तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार बीएसएफ जवान की मौत

तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार बीएसएफ जवान की मौत
---- पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा
---- परिजनों में मचा हड़कंप रो-रोकर हुए बेहाल
----- छुट्टी लेने के बाद घर वापस जाते समय हुई दुर्घटना
बिंदकी फतेहपुर
तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार बीएसएफ जवान गंभीर रूप से घायल हो गया जिसको इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया चिकित्सक ने हालत चिंताजनक देखते हुए प्राथमिक उपचार बाद हैलट कानपुर रेफर कर दिया लेकिन रास्ते में ले जाते समय बीएसएफ जवान की दर्दनाक मौत हो गई मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में हड़कंप मच गया परिजन रो रो कर बुरा हाल हो रहे थे उधर सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया
     जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के तेंदुली गांव के समीप तेज रफ्तार अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार बीएसएफ जवान प्रमोद द्विवेदी उम्र 40 वर्ष पुत्र कमल किशोर द्विवेदी निवासी पधारा थाना बकेवर जनपद फतेहपुर गंभीर रूप से घायल हो गया दुर्घटना के बाद घायल बीएसएफ जवान प्रमोद द्विवेदी को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया दुर्घटना की जानकारी मिलने पर परिजन और शुभचिंतक भारी संख्या में अस्पताल पहुंचे उधर हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार बाद कानपुर रेफर कर दिया परंतु इलाज के लिए ले जाते समय रास्ते में ही बीएसएफ जवान की मौत हो गई मौत की जानकारी मिलते ही परिजनों में हड़कंप मच गया परिजन रो-रोकर बेहाल हो रहे थे घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया बताते चलें कि बीएसएफ जवान प्रमोद द्विवेदी वर्तमान समय में हजारीबाग झारखंड के 40 बटालियन में तैनात थे परिजनों ने बताया कि वह छुट्टी लेकर घर वापस आ रहे थे कानपुर से देर रात रोडवेज बस मैं बैठे और चौडगरा कस्बे में उतर गए जब उतर गए तो उन्हें याद आया कि उनका बैग बस में ही रह गया है उन्होंने एक परिचित से उसकी बाइक लिया और आगे बिंदकी की ओर निकल गई रोडवेज बस का पीछा किया तभी कोतवाली क्षेत्र के तेंदुली गांव के समीप अज्ञात वाहन से टक्कर हो गई और वह गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सक ने रेफर कर दिया था कानपुर ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई बताते चलें कि मृतक बीएसएफ की एक पुत्री 12 वर्षीय वंशिका देवी तथा एक 7 वर्षीय पुत्र वंश द्विवेदी है पति की मौत के बाद पत्नी तथा अन्य परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था