गन्ना किसानों के लिए अच्छी खबर, एक पर्ची से मिलेंगे तौल कराने के अब चार अवसर

 गन्ना किसानों के लिए अच्छी खबर, एक पर्ची से मिलेंगे तौल कराने के अब चार अवसर



(न्यूज़)।प्रदेश के गन्ना एवं चीनी आयुक्त संजय  भूसरेड्डी का कहना है कि  ईज ऑफ़ डूइंग बिज़नेस  के तहत गन्ना किसानों की  विपणन सम्बन्धी समस्यायों का सूचना प्रौद्योगिकी द्वारा ठोस निराकरण किया जा रहा है। ऐसी व्यवस्था की गयी है कि गन्ना किसान की ओवर पर्ची बेकार न जाये तथा इसके लिए किसान को दफ्तरों के चक्कर न काटने पड़ें और कृषक अपने समस्त गन्ने की आपूर्ति सुगमता पूर्वक कर सकें।श्री भूसरेड्डी ने बताया कि यदि किसी किसान की कोई पर्ची निर्धारित समय में न तुलवाने के कारण हॉयल (ओवर डेट) हो जाती है तो उसी क्रमांक की पर्ची लगभग सात दिन बाद ई.आर.पी. के माध्यम से स्वतः रिवेलिडेट होकर पुनः किसान को प्राप्त हो जायेगी, जिस पर “H” भी अंकित होगा। यदि पुनः किसान रिवेलिडेट होकर प्राप्त हुई पर्ची पर निर्धारित अवधि तक गन्ना नहीं तुलवा पाता है तो उसी क्रमांक की पर्ची दोबारा रिवेलिडिट होकर पुनःकिसान को प्राप्त होगी, जिस पर किसान अपना गन्ना तुलवा सकता है। यदि दोबारा रिवेलिडेट पर्ची पर भी किसान अपना गन्ना नहीं तुलवा पाता है तो किसान की पर्ची निरस्त न हो, इसके लिए  व्यवस्था की गयी है कि उस पर्ची को कृषक के मुख्य कैलेण्डर के अन्तिम पक्ष में 1 से 15 कॉलम तक लगाया जायेगा। इस प्रकार कृषक की हॉयल हुई पर्ची किसी भी दशा में बेकार नहीं जायेगी एवं उसे गन्ना तुलवाने के 4 अवसर प्राप्त होंगे।