आपसी सुलह समझौते से भी मामलों का हल निकाला जाए: एडीजे अनुराधा शुक्ला

 आपसी सुलह समझौते से भी मामलों का हल निकाला जाए: एडीजे अनुराधा शुक्ला



विधिक साक्षरता शिविर एवं विधिक सहायता कार्यक्रम का किया गया आयोजन


बिंदकी फतेहपुर।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फतेहपुर के तत्वाधान में एक विधिक साक्षरता शिविर एवं विधिक सहायता कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद एडीजी अनुराधा शुक्ला ने कहा कि जरूरी नहीं कि विवादों के मामले में अदालत ही पहुंचा जाए कई मामलों में आपसी सुलह समझौते से भी मामलों का हल आसानी से निकाला जा सकता है।

मंगलवार को तहसील के सभागार कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा की तमाम छोटे-छोटे विवादों में अदालत पहुंचने में समय की बर्बादी होती है तथा पैसे का भी अपव्यय होता है इससे अच्छा है की कोशिश करें कि आपस में कोई विवाद ना हो बातचीत के माध्यम से ही विवादों का हल कर लें बहुत जरूरी पड़ने पर ही कानून का सहारा ले कई बार विवाद के बाद मुकदमों में लंबे समय तक लोगों को दौड़ना पड़ता है जिससे अनावश्यक समय बर्बाद होता है पैसा भी खर्च होता है इन सब से बचने के लिए आपसी सुलह समझौते से ही विवाद को समाप्त कर ले यही बेहतर होगा उन्होंने लोगों से अधिक से अधिक वैक्सिंग लगवाए जाने के लिए लोगों से अपील किया ताकि कोरोना वायरस की तीसरी लहर से आसानी से बचा जा सके। इस मौके पर ग्राम न्यायालय के जुडिशल जज अतुल पाल ने लोगों को कानून के प्रति जागरूक किया उन्होंने कहा कि देश के संविधान और कानून में महिलाओं को प्राप्त उनके अधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिए।

 इस मौके पर उप जिलाधिकारी विजय शंकर तिवारी ने कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा आयोजित विधिक साक्षरता शिविर एवं विधिक सहायता कार्यक्रम में लोगों को जो जानकारी दी जाती है वह बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए सभी को इन जानकारियों का लाभ उठाना चाहिए इस मौके पर नायब तहसीलदार सिद्धांत सिंह ने कहा कि ऐसे आयोजनों से लोग जागरूक होते हैं इस मौके पर नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी निरुपमा प्रताप समाजसेवी लोकनाथ पांडे सहित तमाम लोग मौजूद रहे।