लगन तुमसे लगाया

 " मेरे कान्हा"

लगन तुमसे लगाया


है, 

तुम्हें अपना बनाया है l


तुम्हीं से ज़िंदगी  मेरी, 

तुम्हीं ने आशा की पूरी l


मेरे मोहन! मेरे कान्हा! 

तुम्हीं से दूर हर विपदा l


लगन तुमसे लगाया है, 

तुम्हें अपना बनाया है l


तुम्हीं से दिल्लगी मेरी, 

तुम्हीं दीवानगी मेरी l


तुम्हीं नईया खेवईया हो, 

तुम ही पार लगइया हो l


लगन तुमसे लगाया है, 

तुम्हें अपना बनाया है l

 

तुम्हीं तक जुस्तज़ू मेरी, 

नहीं तुमसे कोई दूरी l


तुम्हीं लीला रचइया हो, 

तुम्हीं बंशी बजइया हो l


लगन तुमसे लगाया है, 

तुम्हें अपना बनाया है l

 

तुम्हीं  ने 'प्रेम -रस'  देकर, 

किया सिंचित ह्रदय जन हरl


दिया है ज्ञान तुमने ही, 

दिया है मान तुमने ही l


लगन तुमसे लगाया है, 

तुम्हें अपना बनाया है l



रश्मि पाण्डेय

बिंदकी फतेहपुर

Popular posts
पाल समुदायिक उत्थान समिति एवं राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के तत्वाधान में सम्मेलन संपन्न
चित्र
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
मुंबई में धमाल मचा रहे हैं फतेहपुर के शिवार्थ श्रीवास्तव
चित्र
उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार का सुनहरा मौका, चार अक्टूबर को हर जिले में लगेगा अप्रेंटिसशिप मेला
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र