बंधक बनाए गए राकेश सिंह प्रकरण में पुलिस की चुप्पी से रहस्य गहराया

 बंधक बनाए गए राकेश सिंह प्रकरण में पुलिस की चुप्पी से रहस्य गहराया 



आरोपी युवक को तलाशने वाली पुलिस बैक फुट में 


महिला की करोड़ों की जमीन बेचवा डाली गई पूरे प्रकरण में शुरू से ही जुड़ रहे धर्मांतरण की कड़ी फिर भी हिंदूवादी संगठन साधे है मौन



फतेहपुर जिले में धर्मांतरण का मामला तेजी के साथ तूल पकड़ता जा रहा है एक महिला को बरगला कर धर्मांतरण कराने के बाद उसके पति को जिस अंदाज पर बंधक बनाए जाने का काम किया गया है उससे पुलिस भी अब कुछ भी नहीं कर पा रही है उधर इस मामले में बंधक बनाए गए राकेश सिंह को लेकर 2 दिन पूर्व कई हिंदूवादी संगठनों ने खोजबीन की लेकिन उसके बाद भी उन्हें कोई सुराग नहीं मिला बताया जाता है कि शहर के ,नऊआबाग इलाके में जिस मकान में बंधक बनाकर पिछले 3 वर्षों से राकेश सिंह नामक शख्स को रखा गया है उसके पास बंधक बनाने वाले युवक के गुर्गे हमेशा मौजूद रहते हैं यही वजह है कि उसे घर के बाहर नहीं निकाला जाता बंधक बनाने वाले  आखिर उसे अपने घर में क्यों कैद रखकर रखा है यह पूरी तरीके से रहस्य में बना हुआ है। ताज्जुब की बात तो यह है कि उसकी पत्नी भी बंधक बनाने वाले शख्स के साथ ही मौजूद है उसने धर्मांतरण करा लिया है। धर्मांतरण करा कर निकाह कराने वाले उस मौलवी की भी जानकारी लोगों तक पहुंच गई है जो इस पूरे कारनामे में शामिल था। पिछले कई दिनों से सुर्खियों में चल रहे इस मामले में पुलिस पूरी तरीके से ,मौन साबित हो रही है पुलिस के आला अधिकारियों से लेकर निचले स्तर तक के कर्मचारी इस पूरे मामले में पर्दा डालने का प्रयास करने में जुटे हुए हैं। हालात ऐसे बनते जा रहे हैं कि इस युवक के कई आकाओं ने भी इस मामले को संज्ञान में लेकर बचाव के रास्ते खोजने शुरू कर दिए हैं बताया जाता है कि पिछले काफी समय से करोड़ों की जमीन इस महिला के नाम थी जिसे बेचवाये जाने का भी वकायदे ताना-बाना बुना गया है और करोड़ों की जमीन अब तक बेच डाली गई सबसे खास बात तो यह है कि शहर के इस सनसनीखेज मामले में पुलिस की चुप्पी कहीं ना कहीं इस युवक को बढ़ावा देने का काम कर रही है। शुरुआती दौर में तो पुलिस हरकत में आई थी और इस बंधक बनाने वाले युवक की खोजबीन शुरू की थी लेकिन मौजूदा समय में जो हालात है उसे पुलिस एक बार फिर से बैकफुट पर नजर आ रही है हालांकि इस मामले पर उच्चाधिकारियों का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है कार्यवाही की जा रही है लेकिन सबसे खास बात यह है कि पुलिस इस मामले में स्वत संज्ञान लेते हुए क्यों कार्रवाई करने से बच रही है इस पर इस पर बड़ा सवाल खड़ा होता जा रहा है