पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीबी और नोएडा के मशहूर बिल्डर अजय चौधरी के ठिकानों आयकर विभाग ने किया छापेमारी

 पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीबी और नोएडा के मशहूर बिल्डर अजय चौधरी के ठिकानों आयकर विभाग ने किया छापेमारी 



न्यूज़।यूपी में सपा से जुड़े लोगों पर आयकर विभाग की छापेमारी का दौर जारी है। मंगलवार को आयकर विभाग की टीम ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीबी और नोएडा के मशहूर बिल्डर अजय चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी की। अखिलेश के करीबी अजय चौधरी नोएडा स्थित ACE ग्रुप के मालिक हैं। इससे पहले कानपुर में इत्र व्यवसायी पियूष जैन के ठिकानों पर छापा पड़ा था जिसमें भारी मात्रा में नकदी बरामद हुई थी। इसके बाद आयकर विभाग यूपी में बेहद सक्रियता के साथ छापे डाल रहा है।

मंगलवार को ही यूपी के बागपत जनपद में भी आयकर विभाग ने छापेमारी की। यहां सपा से जुड़े अजय राठी के ठिकानों पर इनकम टैक्स विभाग की टीम पहुंची और छापेमारी की। सूत्रों के जरिए मिली जानकारी के मुताबिक चुनाव से पहले यह छापे उन सभी लोगों के ठिकानों पर पड़ रहे हैं जो उन लोगों से जुड़े हैं जिनपर पहले छापा पड़ चूका है। यूपी विधानसभा का चुनाव जैसे-जैसे नजदीकी आ रहा है, इत्र व्यापारियों के साथ अब बिल्डर भी निशाने पर आए हैं और इसी लिहाज से समाजवादी पार्टी से जुड़े लोगों पर जबरदर्स्त छापेमारी चल रही है।बता दें कि मंगलवार को यूपी के तीन जिलों में आयकर विभाग ने छापे मारी की और सभी लोग समाजवादी पार्टी से जुड़े थे। एक तरफ जहां नोएडा के मशहूर बिल्डर अजय चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी हुई तो वहीं दूसरी तरफ आगरा में भी जूता व्यापारी और बागपत बागपत में अजय राठी के घर पर आईटी की रेड पड़ी। आगरा में 3 लोकेशन पर आईटी ने छापेमारी की है और तीनों ठिकाने शू रक्सपोर्टर्स से जुड़े हैं। समाजवादी पार्टी के समर्थक मन्नू अलग,मानसी चंद्रा, विजय आहूजा के यहां आईटी के छापे पड़े हैं।

Popular posts
सदर सीट से प्रमोद द्विवेदी को चुनाव लड़ा सकती हैं भाजपा
चित्र
केशव मौर्या के भाजपा से प्रत्यासी घोषित होते ही समर्थकों ने दागे पटाखे,बांटी मिठाई
चित्र
मकरस्क्रान्ति त्यौहार के शुभ अवसर पर किशनपुर में लगा ऐतिहासिक मेला
चित्र
दारा सिंह चौहान के इस्तीफे से क्या पड़ सकता है सियासत पर बड़ा फर्क
चित्र
कोर्रा कनक किशोरी हत्याकांड में ललौली पुलिस ने किया खुलासा सगा भाई ही निकला हत्यारा।
चित्र