स्वरोजगार योजनाओ के अंतर्गत मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुअल संगम का शुभारंभ किया

 स्वरोजगार योजनाओ के अंतर्गत मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुअल संगम का शुभारंभ किया



फतेहपुर।स्वरोजगार योजनाओ के अंतर्गत मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुअल संगम का शुभारंभ किया गया । जिसका सजीव प्रसारण एनआईसी में देखा गया । जिसके अंतर्गत एमएसएमई विभाग विभिन्न बैंकों एवं अभ्यर्थियों को एक मंच पर लाकर पूरे प्रदेश में रुपया 4113 करोड़ का ऋण उद्योग एवं सेवा क्षेत्र में वितरित किया गया । मुख्यमंत्री द्वारा अपने संबोधन में इस बात पर जोर दिया गया कि उद्यमी द्वारा किसी व्यक्ति को दिया गया रोजगार न केवल उस व्यक्ति के जीवन में परिवर्तन लाता है बल्कि वह पूरे परिवार एवं समाज को एक नए नवाचार की तरफ आकर्षित करता है, उन्होंने इस ओर ध्यान आकृष्ट किया गया कि ओडीओपी एवं विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना जैसे अभिनव प्रयोगों ने 40 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों को रोजगार से जोड़ा है । एमएसएमई विभाग की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस विभाग के प्रयासों से जहां पहले उत्तर प्रदेश का युवा जॉब सीकर था अब वह जाब क्रिएटर की भूमिका में है , तथा प्रदेश में पिछले 5 वर्ष में विभागीय योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के कारण बेरोजगारी दर 18% से घटकर 4% हो गई है अंत में उनके द्वारा कोविड-19 लहर को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश के श्रमिकों के पलायन को रोकने के लिए श्रमिकों को रुपया 500 प्रतिमाह भत्ता दिए जाने की घोषणा की गई है ।

जनपद स्तर पर भी रोजगार संगम का आयोजन मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश द्वारा की गई जिसमें स्वरोजगार हेतु ऋण वितरण मेला एवं टूल किट वितरण  किया गया । उन्होंने लाभार्थियों से अपेक्षा की है कि वे दिए गए ऋण का सदुपयोग करें और बैंक का ऋण समय से अदा करें, इसके अलावा अपने उद्योग में अन्य बेरोजगारों को भी रोजगार प्रदान करें इसके अतिरिक्त टूलकिट लाभार्थियों से भी अनुरोध किया गया कि उन्हें जिस ट्रेड में प्रशिक्षण प्रदान किया गया है वह कार्य अवश्य करें ताकि शासन की मंशा पूर्ण हो सके ।

 इस अवसर पर कार्यक्रम का संयोजन उपायुक्त उद्योग अंजनी कुमार सिंह द्वारा किया गया । उन्होंने बताया कि लाभार्थी प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत लाभार्थी नवनीत, श्यामू एवं अवधेश कुमार को रुपया 10-10 लाख का ऋण प्रदान किए गए तथा मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना अंतर्गत श्रीमती मधुलता पाल को रुपया 15 लाख एवं आशीष कुमार को 10 लाख का ऋण वितरित किया गया, इन तीनों योजनाओं में जनपद फतेहपुर में 06 अभ्यर्थियों को कुल 70 लाख रुपए के ऋण प्रदान किए गए हैं । उन्होंने बताया कि ओडीओपी योजना में श्रीमती विनीता देवी को रुपया 15 लाख का ऋण भी वितरित किया गया है । जनपद में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना अंतर्गत 05 अभ्यर्थियों श्रीमती लीलावती, श्रीमती रंजना, श्रीमती वंदना, श्रीमती उर्मिला एवं श्रीमती दिव्या गुप्ता को सिलाई मशीन वितरित किया गया । इस अवसर पर अग्रणी जिला प्रबंधक वी0डी0 मिश्रा, प्रबल प्रताप सिंह सहायक आयुक्त उद्योग, पवन कुमार चौधरी अपर सांख्यिकी अधिकारी एवं शिवानंद सहायक प्रबंधक तथा लाभार्थी गण उपस्थित रहे ।