मोबाइल एप पर योजनाओं की निगहबानी करेंगी आशा संगिनी

 मोबाइल एप पर योजनाओं की निगहबानी करेंगी आशा संगिनी




संवाददाता बाँदा - मोबाइल एप पर योजनाओं की निगहबानी करेंगी आशा संगिनी स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी योजनाओं के क्रियान्वयन में महती भूमि दो सत्रों में 58 आशा संगिनियों को दिया गया प्रशिक्षण 

गांवों में स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी योजनाओं के क्रियान्वयन में महती भूमिका निभा रहीं आशा संगिनियों को हाईटेक किया जा रहा है। वह अब एचआरपी चिन्हीकरण, मातृ-मृत्यु रिपोर्टिंग सहित अन्य निगहबानी मोबाइल एप के माध्यम से करेंगी। उन्हें एप के संचालन में दक्ष बनाने के लिए प्रथम चरण में सीएमओ सभागार में 58 आशा संगिनियों को  प्रशिक्षित किया गया।

प्रशिक्षक जितेंद्र कुमार (कानपुर) ने मोबाइल एप्लीकेशन काम करने का तरीका बताया। उन्हें क्रियाशीलता चेकलिस्ट भरना, एचआरपी चिह्नीकरण करना, मातृ-मृत्यु रिपोर्टिंग तथा संगिनी सहेली माड्यूल के बारे में भी जानकारी दी। प्रशिक्षण सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एके श्रीवास्तव ने कहा कि मोबाइल पर काम करने से आशा संगिनियों की क्षमता बढ़ेगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की सेवाओं में सुधार के लिए इसे बड़ी पहल भी बताया। 

जिला कार्यक्रम प्रबंधक कुशल यादव ने प्रशिक्षण का उद्देश्य बताते हुए कहा कि आशा संगिनी द्वारा आशा कार्यकर्ताओं को दिए जाने से वाले सहयोगात्मक पर्यवेक्षण को सुदृढ़ एवं मजबूत करने के लिए एम हेल्थ (मोबाइल हेल्थ) परियोजना शुरू की गई है। इस परियोजना के आने से आशा संगिनी को आशा कार्यकर्ताओं का पर्यवेक्षण करने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि आशा संगिनियों को दो सत्रों में प्रशिक्षण दिया गया। जनपद में 822 संगिनियों व आशा को मोबाइल दिए गए हैं। आशाओं को भी शीघ्र ही प्रशिक्षण देने की तैयारी है।

Popular posts
प्रेम प्रसंग के चलते हुई हत्या परिजनों ने जताई आसंका
चित्र
आकांक्षा साहू का इलाहाबाद उच्च न्यायालय अपर समीक्षा अधिकारी ए.आर.ओ. के पद पर हुआ चयन
चित्र
राजस्थान प्रदेश के जनपद जालौर में मासूम दलित छात्र की हत्या के संबंध में भीम आर्मी मंडल अध्यक्ष ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन
चित्र
मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में जन सुविधा केंद्र के संचालन हेतु मुद्रा लोन दिए जाने के संबंध में उचित दर विक्रेताओं के साथ बैठक संपन्न
चित्र
बेखौफ बदमाशों ने ई-कार्ड कोरियर आफिस में तमंचे के बल पर लूटे 18 लाख 81 हजार
चित्र