रूक्मिणी विवाह की कथा सुन श्रोता भावविभोर

 रूक्मिणी विवाह की कथा सुन श्रोता भावविभोर



बिंदकी फतेहपुर।अमौली ब्लाक के मदरी गांव में चल रही श्रीमद्भागवत  कथा के छठवें दिवस कथा वाचक पं.सौरभ तिवारी द्वारा संगीतमयी रुक्मिणी विवाह की कथा सुनाई गई एवम सुंदर झाँकी निकाली गई। कथा सुनने रोजाना बड़ी संख्या में ग्रामवासी पहुंचकर धर्म लाभ ले रहे हैं। आचार्य  ने कहा कि भगवान की महारास लीला इतनी दिव्य है कि स्वयं भोलेनाथ उनके बाल रूप के दर्शन करने के लिए गोकुल पहुंच गए बताया जिसके जीवन में दया धर्म क्षमा हैं वही ईश्वर को महसूस कर सकता है। समिति के शनि अवस्थी ने बताया कि 16 मार्च को हवन के बाद विशाल भण्डारा का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में शनि अवस्थी,मोनू, प्रिंसु, शुभम, साहिल आदि लोग उपस्थित रहे।