पीड़ित की बहन की फांसी का कारण दहेज एवं उत्पीड़न

 पीड़ित की बहन की फांसी का कारण दहेज एवं उत्पीड़न



बाँदा ।पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर के कार्यालय में प्रार्थना पत्र के माध्यम से पीड़ित ने अवगत कराया कि सुभाष गिरि निवासी मोहल्ला गायत्री नगर, शहर बांदा का निवासी है। प्रार्थी की बहन रंजना गिरि को अमित गुप्ता व अनुराग गुप्ता पुत्रगण कैलाश गुप्ता निवासी बंगालीपुरा रमा वाटिका के पास शहर बांदा मे रहते हैं प्रार्थी की बहन को बहला फुसलाकर लिवा गये थे और अमित गुप्ता ने अपने भाई अनुराग गुप्ता के सहयोग से आज से करीब 4 वर्ष पूर्व रंजना गिरि से मंदिर मे शादी कर लिया था और रंजना गिरि अमित गुप्ता के साथ बहैसियत पत्नी रह रही थी। परन्तु कुछ दिनों के बाद अमित गुप्ता व अनुराग गुप्ता बहन रंजना से 5,00000/-रू0 (पांच लाख रू0) व एक मोटर साइकिल की मांग करने लगे। न देने पर मानसिक व शारीरिक उत्पीडन करने लगे। पीड़ित की बहन रंजना ने प्रार्थी से अमित गुप्ता व अनुराग गुप्ता द्वारा दहेज लेने के लिये प्रताडित करने की बात बताती थी। प्रार्थी को दिनांक 01.03.2022 को पता चला कि प्रार्थी की बहन रंजना गिरि की अप्राकृतिक मृत्यु हो गयी। पता  चला कि प्रताडना के कारण मेरी बहन ने फासी लगाकर आत्महत्या कर लिया। प्रार्थी रंजना की ससुराल गया और अमित गुप्ता व अनुराग

गुप्ता से कहा कि हमारी बहन कैसे मर गयी। तुम्हारी रिपोर्ट करूंगा। तब उपरोक्त दोनो

ने प्रार्थी को बुरी-बुरी गालियां दी और कहा  यहां से भाग जाओ नहीं तो तुझे जान से मार डालेंगे"।मृतक के भाई के द्वारा मांग की गई अमित गुप्ता व अनुराग गुप्ता के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज करके गिरफ्तार कराये जायें।