लॉकर डकैती का 11वां मामला: सेंट्रल बैंक के कर्मचारियों ने फोन कर बुलाया, लॉकर से गायब मिले 50 लाख के जेवर

 लॉकर डकैती का 11वां मामला: सेंट्रल बैंक के कर्मचारियों ने फोन कर बुलाया, लॉकर से गायब मिले 50 लाख के जेवर     



 न्यूज़।सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की कराचीखाना शाखा में मंगलवार को एक और लॉकर से 50 लाख के जेवर गायब हो गए हैं। बैंक कर्मचारियों ने महिला ग्राहक को फोन करके लॉकर चेक करने के लिए बुलाया था। पीड़िता जब लॉकर खोलने गई, तो खुला ही नहीं और फंस गया। बाद में लॉकर तोड़ना पड़ा। लॉकर में रखे जेवर के साथ पांच सौ डालर भी गायब मिले। पीड़िता ने फीलखाना थाने में तहरीर दी है। बैंक से जेवर और डॉलर गायब होने पर पीड़िता ने बैंक अफसरों को जमकर खरी-खोटी सुनाई।

उन्होंने कहा कि कश्मीर फाइल्स में, तो पीडितों को जिंदा जलाया, यहां बैंक वाले आर्थिक रूप से मार रहे हैं। अब तक की कमाई पूरी पूंजी चली गई। सालों की मेहनत के बाद पूंजी जुटाई थी। बता दें कि मोती मोहाल में रहने वाली अमिता गुप्ता को बैंक की ओर से फोन आया था कि लॉकर चेक कर लें। सुबह करीब 10:30 बजे पति कुलजीत गुप्ता के साथ बैंक पहुंची और लॉकर ऑपरेट किया। जब चाभी लगाई, तो लॉक अटक गया। इसकी जानकारी प्रबंधन को दी। इसके बाद लॉक तोड़ा गया।उन्होंने बताया कि 2015 में लॉकर लिया था। इससे पहले 2020 में ऑपरेट किया था। उन्होंने बताया कि 2017 में हरसहायमल लखनऊ से एक सेट, दो कड़े खरीदे थे। इसके अलावा शहर के दो बड़े ज्वैलर्स के यहां से खरीदे गए चार छोटे सेट, एक चूड़ी का सेट, सोने की चेन, झुमकी, पांच सोने की अंगूठी के अलावा कैश और डॉलर थे। यह सभी सामान का बिल भी उनके पास है। जब सामान खरीदा था, तब इसकी कीमत 20-22 लाख थी। अब इसकी कीमत 50 लाख के करीब है। चांदी का भी काफी सामान था, वो भी गायब है। उनका रतनलाल नगर में फ्रंचाइजी सैलून है। एक बेटी है। उसकी पढ़ाई और आगे के लिए सब जुटाया था।