IAS बने यशार्थ शेखर, बांदा की बजरंग कालोनी में स्थित उनकी ननिहाल में जबरदस्त खुशी का माहौल

 IAS बने यशार्थ शेखर, बांदा की बजरंग कालोनी में स्थित उनकी ननिहाल में जबरदस्त खुशी का माहौल



रिपोर्ट - ब्यूरो श्रीकांत श्रीवास्तव


बांदा - संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2021) का आज फाइनल रिजल्ट आ गया है। इसी के साथ बांदा का नाम भी देशभर में रोशन हो गया है। जी हां, बांदा में बचपन बिताने वाले यशार्थ शेखर यूपीएससी की परीक्षा को शानदार ढंग से पास करते हुए आईएएस अधिकारी बन गए हैं। उनके पिता बलरामपुर के जिला जज हैं। दरअसल, यशार्थ की इस उपलब्धि से बांदा की बजरंग कालोनी में स्थित उनकी ननिहाल में जबरदस्त खुशी का माहौल है। मामा-मामियों को बधाइयां देने वालों की भीड़ लगी है। घर में त्यौहार जैसा माहौल है।

दरअसल, यशार्थ स्व. यदुनंदन सिंह के नाती हैं। उनके दोनों मामा, एक अधिवक्ता विमल सिंह हैं और दूसरे व्यवसाई प्रफुल सिंह हैं। जैसे ही यशार्थ के यूपीएससी परीक्षा पास करने की जानकारी हुई, दोनों मामाओं और मामी, अनुपमना सिंह और प्रतिभा सिंह की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

सभी ने एक-दूसरे का मुंह मीठा कराते हुए आपस में बधाइयां दीं। इसके बाद आसपास के लोगों ने भी उनको बधाई दी। यशार्थ के मामा का कहना है कि भांजे की यूपीएससी परीक्षा में 12वीं रैंक आइ है।

यह उनके परिवार के लिए बेहद गर्व की बात है। उन्होंने बताया कि उनकी बहन शांति सिंह ने बेटे की पढ़ाई पर काफी ध्यान दिया। उन्होंने बताया कि उनकी इस उपलब्धि में यशार्थ की मेहनत के साथ उनकी मां का बेहद अहम योगदान है। खास बात यह है कि यशार्थ के पिता लल्लू सिंह इस समय बलरामपुर के जिला जज है।