श्रीराम जन्मभूमि कॉरीडोर : योगी सरकार ने जारी की पहली किश्त, नौ अरब रुपये से बदलेगी अयोध्या की सड़कों की सूरत

 श्रीराम जन्मभूमि कॉरीडोर : योगी सरकार ने जारी की पहली किश्त, नौ अरब रुपये से बदलेगी अयोध्या की सड़कों की सूरत     


     


न्यूज़।अयोध्या में सड़कों के विकास के लिए योगी सरकार ने पहली किश्त जारी कर दी है। सरकार ने श्रीकाशी विश्वनाथ की तर्ज पर श्रीराम जन्मभूमि कॉरीडोर का विकास कराने का निर्णय लिया है।अयोध्या की सड़कों को चौड़ी, सुंदर और सुविधाजनक बनाने के लिए योगी सरकार ने 107 करोड़ रुपये की पहली किश्त जारी कर दी है। इस योजना के लिए कुल नौ अरब रुपये का बजट रखा गया है।योगी सरकार ने श्रीराम जन्मभूमि के आस-पास के इलाके को दिव्य-भव्य रूप देने की योजना बनाई है। जिसे श्रीराम जन्मभूमि कॉरीडोर नाम दिया गया है जो कि श्रीकाशी विश्वनाथ धाम की तर्ज पर विकसित किया जा रहा है। इस कार्य को समय से पूरा करने के लिए लोक निर्माण विभाग ने निर्देश दिए हैं। इस प्रोजेक्ट की देखरेख जिले के जिलाधिकारी करेंगे।अयोध्या में राममंदिर निर्माण के साथ-साथ भक्तों के लिए सुविधाएं विकसित करने का काम भी तेजी से चल रहा है। राममंदिर जाने वाले तीनों मार्गों को रामपथ, जन्मभूमि पथ व भक्ति पथ के रूप में विकसित किया जाना है। सहादतगंज-नयाघाट मार्ग को रामपथ, सुग्रीव किला से रामजन्मभूमि को जन्मभूमि पथ व शृंगारहाट से श्रीराम जन्मभूमि को भक्तिपथ का नाम दिया गया है।

डीएम नितीश कुमार कह चुके हैं कि रामलला के दर्शनार्थियों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। ऐसे में भक्तों के लिए जनसुविधाएं विकसित करने की भी जरूरत को देखते हुए सबसे पहले राममंदिर के इन तीनों पहुंच मार्गों को विकसित किया जाएगा।

रामनगरी में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रनवे का 40 फीसदी काम पूरा हो चुका है। दिसंबर तक रनवे बन जाएगा। वहीं फेज-2 और फेज-3 के लिए भी जमीन के अधिग्रहण का 99 फीसदी पूरा हो गया है।

Popular posts
खेत जा रही देवरानी जेठानी को दबंग परिजनों ने पीटकर किया लहूलुहान
चित्र
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से पेट्रोल पंप में हुआ भारी नुकसान
चित्र
नवागंतुक मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद विकास भवन के कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय, सहकारिता कार्यालय, आरईएस, जल शक्ति कार्यालय आदि कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण
चित्र