नदी,सरोवर के किनारे पहुंचकर लोगो ने अपने-अपने पितरों का तर्पण किया, वहीं घरों में भी पितरों को जल किया दान

 नदी,सरोवर के किनारे पहुंचकर लोगो ने अपने-अपने पितरों का तर्पण किया, वहीं घरों में भी पितरों को जल किया दान 




बांदा -- आज दिवस मे भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा शनिवार से महालय श्राद्ध शुरू हो गए थे।15 दिनों तक चलने वाले श्राद्व आज 25 सितंबर को सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या पर संपन्न हुआ। पहले दिन लोगों ने स्थानीय गृह,नदी,सरोवर के किनारे पहुंचकर अपने-अपने पितरों का तर्पण किया वहीं घरों में भी पितरों को जल दान किया गया। जिन लोगों के पितरों की मृत्यु पूर्णिमा पर हुई थी उनके द्वारा पहले दिन पूर्णिमा का श्राद्ध किया गया।सरोवर घाटों पर पानी ना होने के कारण लोगों ने काफी दूर चल कर नदी किनारे जाकर पितरों का तर्पण किया।

आचार्य डॉ. विभूति भूषण दीक्षित जी बताए हैं कि पूर्वजों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के दिन श्राद्ध पक्ष कहलाते है।यह दिन ऋषि-मुनियों और पूर्वजों, बन्धु बांधव, पिता पक्ष, मातृ पक्ष में पिता, बाबा, पर बाबा, माता, दादी, पर दादी, नाना, नानी की तीनों पीढ़ियों के स्मरण व तर्पण के दिन भी माने जाते हैं। हिंदू धर्म में श्राद्ध पक्ष का काफी महत्व होता है। श्राद्ध यानी श्रद्धा यत क्रियते अर्थात श्रद्धा से जो अंजलि दी जाती है उसे श्राद्ध कहते हैं। जिन पितरों व पूर्वजों ने हमारे कल्याण के लिए कठोर परिश्रम किया, हमारे सपनों को पूरा करने के लिए अपना जीवन बिता दिया उन सभी का श्राद्ध पक्ष में श्रद्धा भाव के साथ स्मरण किया जाता है। यह जिस योनि में हो उस योनि में उन्हें सुख शांति मिले इसलिए श्राद्ध के दिनों में पिंडदान और तर्पण का विधान है।

प्रति दिन तर्पण मे भीष्म पितामह, के लिए भी तर्पण के विधान है, ऊर्जा श्रोत, भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर पितृ देवता विश्वे देवा,जनार्दन, को अर्पण कर श्रद्धांजलि से तृप्त करने का भाव रखना चहिए।

टिप्पणियाँ
Popular posts
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र
प्रदेश कमाने गए पति की गैरमौजूदगी में महिला के साथ पड़ोसियों ने किया बदसलूकी
चित्र