ग्रामीणों की शिकायत पर अधिकारियों ने रास्ता बनाने के कार्य पर लगाई रोक

 ग्रामीणों की शिकायत पर अधिकारियों ने रास्ता बनाने के कार्य पर लगाई रोक




 जाफरगंज (फतेहपुर)। जिले के जाफरगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मौहारी ग्राम पर मोरम खनन का हो रहा निर्माण जो निर्माण 6 माह से लगातार प्रगति पर है प्रगति को बार बार सरकारी कर्मचारियों द्वारा रोका जा रहा है। आज दिनांक1/2/2023 को मौके पर पहुंचे खनिज  अधिकारी व  राजस्व टीम ने रोका मोरम खदान की प्रगति को 

जाफर गंज के मौहारी ग्राम स सभा की जमीन से रास्ता बनाने का कार्य चल रहा था जिसमें की ग्रामीणों की शिकायत पर मौके पर पहुंचे खनन अधिकारी राजेश कुमार व नायब तहसीलदार सुरेश चंद्र बिंदकी ने कार्य को स्थगित करा कर पट्टा धारक प्रतिनिधियों को सख्त हिदायत देते हुए कहां की सारी कागजी कार्यवाही पूर्ण करने के पश्चात जैसा भी आदेश आएगा उस आधार पर ही कार्य शुरू होगा मौके पर ग्राम प्रधान के साथ करीब डेढ़ दर्जन से अधिक ग्रामीण मौजूद रहे

जानकारी के अनुसार पट्टा धारक  पूर्णिमा वर्मा के प्रतिनिधि चंद किशोर निषाद से बात करने पर जानकारी मिली कि हमारा पट्टा बांदा जनपद से सबादा मौरंग खदान के नाम पर हुआ है जिसमें की यमुना नदी का सबादा की तरफ से बहाव व कटाव  होने के कारण बांदा जिला के कछार की पट्टा भूमि गाटा संख्या 168 फतेहपुर जनपद के मौहारी कछार क्षेत्र में निकलने की वजह से खनन का कार्य फतेहपुर जनपद की ग्राम सभा मौहारी से ही कराया जाएगा जिलाधिकारी बांदा के दिशा निर्देशानुसार खनिज अधिकारी बांदा द्वारा पैमाइश कराई गई थी और जहां से रास्ता निकाला गया उन सारे किसानों को मुआवजा भी दिया गया है

साथ साथ फतेहपुर जिले के गाजीपुर क्षेत्र से आया हुआ गरीब किसान रोता बिलखता नजर आया।जहां गरीब किसान से वार्तालाप करने पर बताया कि मेरे तीन बेटियां हैं दो बेटियों की शादी कर दिया है एक बेटी कुंवारी है जिसकी शादी करने के लिए मैं अपना क्षेत्र छोड़कर इस क्षेत्र में दो पैसे की लालच पर अपने खरबूजे की खेती को उत्पन्न किया 4 महीने से लगातार परिश्रम कर रहा हूं इस लालच पर खेती कर रहा हूं इससे कुछ पैसे अर्जित कर कर अपनी बेटी की शादी करूंगा लेकिन यह मोरंग  खदान चालू होने की वजह से मेरी खेती करता है सुना है सो गया।अगर मेरी खेती का मुआवजा मेरी  बेटी की शादी करने में कुछ मदद कर दें तो मैं संतुष्ट हूं नहीं तो दूसरा रास्ता आत्महत्या के लिए कुछ नहीं बचेगा अब मेरी उम्र नहीं बची

 वहीं दूसरी तरफ ठेकेदार से बात की गई तो बताया कि ₹3000 दिए गए हैं इससे गरीब किसान संतुष्ट नहीं है

वहीं दूसरी तरफ फतेहपुर जिले से पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा अभी आदेशित नहीं हो पाया है और साथ साथ ही और बताया कि वन विभाग की एनओसी भी अभी नहीं मिल पाई है सरकारी कागजात संपूर्ण होने के उपरांत ही कार्य को प्रगति पर लाएंगे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र
छात्र शौर्य द्विवेदी ने कबाड़ी से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक
चित्र
सरकारी राशन की दुकान बंद,धान लगा रहे कोटेदार, राशन लेने के लिए भटक रहे कार्ड धारक
चित्र