बांस जैसी लकड़ी टूटी हुई हड्डियों को जोड़ने में हो सकती है कारगर

बांस जैसी लकड़ी टूटी हुई हड्डियों को जोड़ने में हो सकती है कारगर


(न्यूज़)बांस जैसी लकड़ी टूटी हुई हड्डियों को जोड़ने में कारगर हो सकती है।बांस जैसी इस सामग्री का नाम रत्तन है।इस सामग्री का आकार मधुमक्खी के छत्ते जैसा होता है और कुछ-कुछ असली हड्डी जैसा दिखता है।यूरोप में इस पर दो प्रयोग करने वाले शोधकर्ताओं का कहना है कि रत्तन का इस्तेमाल ऑर्थोपेडिक टूटी हुई हड्डियों को जोड़ने के लिए कर सकते हैं।बोन डिफेक्ट यानी हड्डियों में गैप अक्सर हड्डियों में हुए संक्रमण और ट्यूमर की सर्जरी के दौरान हो जाते हैं।इस तरह के दोषों को आमतौर पर रोगी या दाता,या पशु-आधारित विकल्प से लिए गए ग्राफ्ट्स के साथ ठीक किया जाता है,लेकिन इनमें से कोई भी आदर्श नहीं है।दुनिया भर में हर साल लगभग 20 लाख बोन ग्राफ्टिंग सर्जरी की जाती है।रोगी के शरीर के एक अन्य हिस्से से अस्थि ग्राफ्ट अभी भी सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाते हैं।


Popular posts
जिला मुख्यालय पर कल जारी होगी पंचायत चुनावों के आरक्षित/अनारक्षित सीटों की सूची
इमेज
उत्तर प्रदेश में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आरक्षण सूची जारी की जा रही है फाइनल सूची 15 मार्च को
इमेज
क्षेत्रीय भाजपा विधायक करन सिंह पटेल का प्रतिनिधि विपिन पटेल भाजपा की छवि कर रहा है धूमिल।
इमेज
एसडीओ बिंदकी ने कहा कि समय से बिल जमा करें योजना का लाभ उठाएं
इमेज
तिन्दवारा गांव में बहू व ससुर ने लगाई फांसी बहू की मौत ससुर जिला अस्पताल में भर्ती जहां जिंदगी और मौत से लड़ रहा है
इमेज