बच्चों को अच्छे संस्कार देने से ही उनका होगा उद्धार---- विष्णु प्रिया शास्त्री

बच्चों को अच्छे संस्कार देने से ही उनका होगा उद्धार---- विष्णु प्रिया शास्त्री
----- झारखंड ईश्वर महादेव मंदिर में आयोजित भागवत कथा में बही ज्ञान की गंगा
बिंदकी फतेहपुर
मलवा ब्लाक क्षेत्र के साईं गांव स्थित झारखंड ईश्वर महादेव मंदिर में आरंभ हुए श्रीमद् भागवत कथा के प्रथम दिन विष्णु प्रिया शास्त्री ने ज्ञान की गंगा बहाते हुए कहा कि निश्चित रूप से बालपन से जो हम बच्चों को संस्कार देंगे वही संस्कार बच्चों में आगे तक चलते हैं अच्छे संस्कार देने से निश्चित रूप से बच्चों का जीवन सफल होगा
     उन्होंने कहा कि यदि अच्छे संस्कार से बच्चों को वंचित किया गया तो बच्चों की जीवन के विकास में कठिनाई तो आएगी ही साथ ही माता-पिता के लिए भी दुख का कारण बन सकता है इसलिए बच्चों को अच्छे से अच्छे संस्कार देने का काम करें। उन्होंने कहा कि सत्संग से बुरा से भी बुरा व्यक्ति अच्छा व्यक्ति बन जाता है यही नहीं कभी-कभी वह देवता पुरुष भी बन जाता है लेकिन यदि गलत संगत पड़ गई तो अच्छा सा अच्छा व्यक्ति अपने जीवन में भ्रमित हो जाता है और गलत रास्ते में चलने लगता है उन्होंने कहा कि जीवन का सबसे बड़ा धर्म यही है की कोई ऐसा कार्य ना करें जिससे किसी का दिल दुखे कोशिश करें किसी गरीब असहाय की ज्यादा से ज्यादा सहायता करें यही पुण्य मनुष्य के जीवन में काम आता है और निश्चित रूप से ऐसा पूर्ण करने वाले व्यक्ति का जीवन सफल होता है उन्होंने कहा कि मनुष्य के कर्मों का फल यहीं पर मिलता है यदि मनुष्य अच्छे कर्म करता है तो एक और उसकी आयु बढ़ती है वही वह पूरी तरह से स्वस्थ धन-धान्य भी रहता है यदि बुरे कर्म करता है तो एक ऊर्जा उसका स्वास्थ्य की हानि होती है वह उसका धन-धन का भी हाथ होने लगता है और निश्चित रूप से उसके जीवन में कठिनाइयां आने लगती हैं इस मौके पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे जिन्होंने ज्ञान की गंगा में डुबकी लगाकर अपने जीवन को सफल बनाया


Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
भ्रष्ट अधिशासी अभियंता के रहते नहीं हो सकता है योगी सरकार का सपना साकार- तिवारी
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र
आज हम बात करेंगे फूलन देवी के सहादत दिवस के अवसर पर बात करेंगे कि फुलवा से कैसे फूलन बनी फूलन देवी का विस्तृत परिचय
चित्र