एलोवेरा टाइप-2 डायबिटीज के जोखिमों को कम करने में कर सकता है मदद

एलोवेरा टाइप-2 डायबिटीज के जोखिमों को कम करने में कर सकता है मदद


(न्यूज़)।दुनियाभर में लाखों लोग टाइप-2 डायबिटीज से जूझ रहे हैं।उच्च ब्लड शुगर के स्तर से उन रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंच सकता है जो अंगों तक रक्त पहुंचाते हैं।ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के लिए आहार मुख्य कारक है।एक हालिया शोध के अनुसार एलोवेरा टाइप-2 डायबिटीज के जोखिमों को कम करने में मदद कर सकता है। एलोवेरा ब्लड शुगर के स्तर को कम कर प्री डायबिटिक लोगों में टाइप-2 डायबिटीज पनपने से रोकते हैं।प्री डायबिटिक लोगों में ब्लड शुगर का स्तर हमेशा ज्यादा रहता है।शोधकर्ताओं ने कहा कि एलोवेरा शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और ट्राईग्लिसराइड के स्तर को कम करने में भी मदद करता है।शोध में कंट्रोल ग्रुप की तुलना में 4 से 8 हफ्तों तक एलोवेरा का सेवन करने वालों में ब्लड शुगर और बैड कोलेस्ट्रोल का स्तर कम पाया गया।ये  तीन हृदय रोगों का मुख्य कारण है।शोध के अनुसार एलोवेरा अग्नाशय में इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ावा देता है।