पीएफआई और भीम आर्मी के बीच वित्तीय संबंधों की जांच कर रहा है प्रवर्तन निदेशालय

नई दिल्ली, प्रवर्तन निदेशालय (ED) पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और भीम आर्मी के बीच वित्तीय संबंधों की जांच कर रहा है। एजेंसी द्वारा बताया गया कि विश्वसनीय सबूतों के आधार पर पीएफआई के कई बड़े नेताओं और भीम आर्मी के बीच गलत तरीके से रुपयों की फंडिंग हुई है।



























बता दें कि उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले में यूपी पुलिस ने दावा किया था कि हाथरस में जातीय दंगे फैलाने के लिए ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ (पीएफआई) को फंडिंग की गई थी। शुरुआती जांच में पुलिस को कुछ ऐसे तथ्य मिले थे, जिनके आधार पर भीम आर्मी को पीएफआई से जुड़ा बताया गया था। 


 

हाथरस मामले पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने दावा किया था कि पीएफआई नाम संगठन को विदेशों से रूपये पहुंचाए गए थे। इसके साथ ही पुलिस ने यह भी आरोप लगाया था कि इन्हीं रुपये के माध्यस से पीएफआई को हाथरस में जातीय दंगे भड़काने थे। वहीं, इस पूरे मामले में यूपी पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था, जिसे पीएफआई से जुड़ा बताया गया था।