बिकरू कांड: 11 सीओ की सांठगांठ से बने विकास दुबे और उसके रिश्तेदारों के शस्त्र लाइसेंस मामला

 बिकरू कांड: 11 सीओ की सांठगांठ से बने विकास दुबे और उसके रिश्तेदारों के शस्त्र लाइसेंस मामला



(न्यूज़)।बिकरू कांड की एसआईटी जांच में 11 सीओ दोषी पाए गए हैं। इनके ही कार्यकाल में विकास दुबे, उसके रिश्तेदारों और खास गुर्गों के शस्त्र लाइसेंस बने हैं। सभी का आपराधिक इतिहास होने के बाद भी लाइसेंस बन जाने की वजह से इन सीओ के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई है।

आपराधिक इतिहास होने की वजह से इन लोगों ने फर्जी शपथ पत्र लगाए और पुलिस से सांठगांठ कर अपने पक्ष में सत्यापन रिपोर्ट भी लगवा ली। एसओ और चौकी इंचार्ज के अलावा एसआईटी ने तत्कालीन सीओ को भी दोषी माना है।

पिछले करीब दो दशक में तैनात रहे 11 सीओ के नाम सामने आए हैं, जिनके कार्यकाल में लाइसेंस बने हैं। एसपी पश्चिम डॉ. अनिल कुमार का कहना है कि जांच अभी मिली है। संबंधित दस्तावेज जुटाकर जांच की जाएगी।

इन सीओ को पाया गया दोषी

बिल्हौर के तत्कालीन सीओ: प्रेम प्रकाश, सुंदर लाल, करुणा शंकर राय, नंद लाल सिंह, राम प्रकाश अरुण, सुभाष चंद्र शाक्य।

तत्कालीन सीसामऊ सीओ: हरेंद्र कुमार यादव

 तत्कालीन सीओ कार्यालय/नोडल अधिकारी पासपोर्ट: अमित कुमार

तत्कालीन सीओ अकबरपुर: लक्ष्मी निवास


दो अन्य

12 जुलाई 1997 को नियुक्त सीओ रसूलाबाद

24 जुलाई 1997 को नियुक्त सीओ बिल्हौर

Popular posts
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है