ठंड से जनजीवन प्रभावित, नही जले अलाव

 ठंड से जनजीवन प्रभावित, नही जले अलाव



घने कोहरे से दुर्घटना के खतरे बढ़ने के आसार


खागा। ठंड बढ़ने से जनजीवन प्रभावित है। सूबह और शाम के समय घना कोहरा पड़ने से लोगों में ठंड का असर दिखने लगा है। सार्वजनिक स्थलों पर कहीं भी अलाव नही जलाए गए हैं। दिसम्बर के महीने में शर्दी लगातार बढ़ रही है। मंगलवार को सूरज की किरणें बादलों के सामने कमजोर दिखाई पड़ी। धूप के दर्शन के लिए दिनभर लोग आसमान की ओर निहारते रहे। वृद्वजन गर्म कपड़ों में लिपटे हुए खुले आसमान के नीचे दिखाई पड़े। मंगलवार को सम्पूर्ण समाधान में आए शिकायत कर्ताओं में ठंड़ी का असर देखने को मिला। लोग अपनी-लोइया में दुबके हुए नजर आएं। पिछले कुछ दिनों से ठंड का कहर लगातार बढ़ रहा है। रोजी-रोजगार और सरकारी ड्यूटी के लिए घर से निकले लोग शाम चार बजे तक सारा काम निपटाकर घर जाने की कोशिश में लगे रहते हैं। मंगलवार को लोग सुबह आठ बजे से आग के पास बैठे नजर आए। सूरज की किरणें सारा दिन दिखाई नही पड़ी। लोग शरीर में धूप सेकने  के लिए व्याकुल नजर आए। अधिकतम तापमान 14 डिग्री सेंटीग्रेट रिकार्ड किया गया।