यमुना नदी में रामनगर कौहन मौरंग खंड में खुलेआम गरज रही आधा दर्जन पोकलैंड मशीनें

 यमुना नदी में रामनगर कौहन मौरंग खंड में खुलेआम गरज रही आधा दर्जन पोकलैंड मशीनें



फतेहपुर।जनपद में प्रशासनिक, पुलिस और खनन अफसरों को खुलेआम प्रतिबंधित मशीनों से मां कालिंदी का सीना छलनी कर मौरंग खदान संचालक चुनौती दे रहे हैं। 

हालात यह है कि उन्हें न तो ग्रीन ट्रिब्यूनल एक्ट का खौफ है और न ही उच्चतम न्यायालय का। 

इस कारण वह खुलेआम यमुना नदी की बीच जलधारा में नियम कायदों को ताक पर रखकर मौरंग खनन कर रहे हैं। 

खदान संचालक का सत्ता की हनक का रूतबा इतना है खनन बीहड़ क्षेत्र में असोथर रामनगर कौहन मौरंग खंड आर० के० - ए० 1 में सूखे क्षेत्रों में खनन करनें के बाद भी अब यमुना की जलधारा में पोकलैंड गरज रही है।

विदित हो कि सूबे की खनन निदेशक रोशन जैकब ने को जिलाधिकारियों व पुलिस अधीक्षकों की बैठक में अवैध खनन पर तत्काल अंकुश लगाने के आदेश दिए थे। 

इस आदेश के बाद भी असोथर थानाक्षेत्र के रामनगर कौहन में हैवी लंबी बूम वाली लगभग आधा दर्जन पोकलैंड मशीनों को लगाकर खुलेआम मौरंग खनन हो रहा हैं ।सूबे की योगी सरकार व एन.जी.टी. सुप्रीम कोर्ट का फरमान केवल मजाक बनकर रह गया है। पिछले 24 दिनों से असोथर थानाक्षेत्र के रामनगर मौरंग खंड आर० के० ए - 1  यमुना में रात दिन नियमविरुद्ध खुलेआम मौरंग खनन हो रहा हैं व आधा दर्जन हैवी पोकलैंड मशीनें गरज रही हैं   और डंपर व ट्रकों पर मौरंग भर कर ओवरलोड़ निकासी की जा रही हैं।


इनसेट


उड़न दस्ते को नहीं दिखाई दे रहा ओवरलोड़ व नियमों के विपरीत मौरंग खनन


फतेहपुर। जनपद मुख्यालय  से अभी पिछले सप्ताह पहले तीन सदस्यीय टीम ओवरलोड़ व नियमों के विपरीत खनन की जानकारी करने के लिए असोथर की रामनगर कौहन मौरंग खदान आई थी। 

स्वाभाविक रूप से जिला खनन अधिकारी अजीत कुमार पांडेय व दो राजस्व निरीक्षकों की आई थीं और केवल कस्बे के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय तक गई, और एकमात्र ओवरलोड ट्रक का चालान कर खानापूर्ति कर चलती बनी , जबकि दो सौ मीटर दूर आधा सैकड़ा ओवरलोड ट्रक खड़े थे फिर भी उन्हें ओवरलोड वाहन नहीं दिखाई दिए।


साहब यहां तो एक माह से हो रहा हैंवी मशीनों से खनन


स्थानीय लोगों ने बताया कि यहां तो पिछले २३ दिनों से मौरंग खनन हो रहा है और दिन भर पुलिस / प्रशासनिक लोग यहां से आते-जाते रहते हैं, लेकिन वह कोई कार्रवाई नहीं करते हैं।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र