निर्दोषों को फंसाने वालों के खिलाफ दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

 निर्दोषों को फंसाने वालों के खिलाफ दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश 


बांदा। निर्दोषों पर छेड़छाड़ जैसे गंभीर आरोप लगा शहर कोतवाली में तहरीर देने या रिपोर्ट दर्ज कराने वाला रैकेट सक्रिय है। शहर के कुछ लोग रैकेट के शिकार हो चुके हैं। यह बात अब जिले के अफसरों समेत प्रभारी मंत्री तक पहुंच गई है। उन्होंने एसपी को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

कलक्ट्रेट में शनिवार को हुई जिला योजना समिति की बैठक खत्म होने के बाद जिले के प्रभारी और प्रदेश के कृषि राज्यमंत्री लाखन सिंह राजपूत को सांसद आरके सिंह पटेल ने बताया। कहा कि कोई ऐसा रैकेट है जो निर्दोषों को फंसाकर ब्लैकमेलिंग करता है। सांसद ने कहा कि अक्सर वही महिलाएं ही आरोप लगाती हैं। रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद सुलह के लिए पैसे ऐेंठने की कोशिश होती है।सांसद ने वहां मौजूद एसपी डा. एसएस मीणा से कहा कि मामले में निर्दोष को नहीं फंसना चाहिए। एससीएसटी एक्ट में भी कुछ लोग गलत फायदा उठाते हैं। राज्यमंत्री ने एसपी को निर्देश दिए कि जांच करा चिह्नित लोगों के खिलाफ कार्रवाई करें।

एसपी ने जांच कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद सांसद के बांदा कार्यालय प्रभारी स्वदेश शिवहरे गोलू ने भी मंत्री और एसपी को बताया कि उनके कार्यालय में शिकायतें आई हैं कि एक पुलिस चौकी प्रभारी रात में लोगों से बदसलूकी करते हैं। उन पर नशा करने का आरोप है। इसी तरह मटौंध थाने के दो सिपाहियों द्वारा अवैध वसूली की भी जानकारी दी गई है। उधर, शहर कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर जयश्याम शुक्ला का कहना है कि उनके कार्यकाल में ऐसा कोई केस नहीं आया है। न ही जानकारी में है।