खांसने वाले कोरोना मरीजों से संक्रमण का खतरा कम

 खांसने वाले कोरोना मरीजों से संक्रमण का खतरा कम



न्यूज़।कोरोना के संक्रमण को लेकर अभी भी कई रहस्यों से परदा नहीं उठ पा रहा है।एक शोध में कहा गया है कि जिन मरीजों को खांसी होती है,उनके जरिए कोरोना के संक्रमण का खतरा कम रहता है। जिन्हें खांसी नहीं होती है,उनसे संक्रमण का खतरा ज्यादा है।स्पेन के वार्सिलोना में हुए अध्ययन की रिपोर्ट हाल में लांसेट इंफेक्सियस डीजिज जर्नल में प्रकाशित हुई है।इसमें कहा गया है कि 314 कोरोना मरीजों और उनके 753 संपर्कों पर हुए अध्ययन के बाद यह नतीजा निकाला गया है।अब तक हुए अध्ययनों में यह बात सामने आई थी कि खांसने वाले मरीजों से संक्रमण का खतरा ज्यादा है। लेकिन,इस अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों को खांसी हो रही थी,उनके जरिये कोरोना का फैलाव कम हुआ।इसी अध्ययन में यह भी नतीजा निकला है कि जिन लोगों के शरीर में कोरोना वायरस लोड ज्यादा था,वे भी ज्यादा संक्रमण फैला रहे थे। जबकि कम वायरस लोड वाले मरीजों से प्रसार कम हुआ। वायरस लोड का मतलब शरीर में वायरस की संख्या की मौजूदगी से है। दरअसल, संक्रमण के बाद वायरस के लाखों प्रतिरूप शरीर में बन जाते हैं।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र