पीने का पानी निकला दूषित तो मुआवजा पाने के होंगे हकदार

 पीने का पानी निकला दूषित तो मुआवजा पाने के होंगे हकदार



न्यूज़।जल्द ही आप अपने घर, दफ्तर, शिक्षण संस्थान व अन्य स्थानों पर उपलब्ध पाइप के नल, हैण्डपम्प से मिलने वाले पेयजल की गुणवत्ता की जांच आसानी से करवा सकेंगे। जांच रिपोर्ट में अगर यह साबित हुआ कि दूषित पेयजल पीने से आपको या आपके परिवार में किसी भी सदस्य को कोई गम्भीर बीमारी हुई तो संबंधित पेयजल आपूर्ति एजेंसी से आप समुचित मुआवजा पाने के भी हकदार होंगे।देश भर की पेयजल जांच प्रयोगशालाएं अब आम जनता के लिए खोली जाने वाली हैं।जल जीवन मिशन के तहत बीमारियों को पीने के पानी से जोड़ दिया गया है।पेयजल की गुणवत्ता को जनस्वास्थ्य से जोड़े जाने के इस नये अभियान की शुरुआत जल्द ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे।केन्द्र सरकार के जल जीवन मिशन के तहत 'हर घर जल' कार्यक्रम में पानी की गुणवत्ता की जांच निगरानी व सर्विलांस के लिए एक नया पोर्टल WQMIS विकसित किया गया है।जिसे https://neer.icmr.org.in यानि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) से सम्बद्ध किया गया है।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र