निदेशालय ने सभी शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में चौपाल लगाकर सुधारी जाए स्कूलों की गुणवत्ता

 निदेशालय ने सभी शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में चौपाल लगाकर सुधारी जाए स्कूलों की गुणवत्ता



न्यूज़।बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूलों के खुलने के बाद चौपालें लगाई जाएंगी। इसके लिए निदेशालय ने सभी शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों में चौपालों का आयोजन करके लोगों को शिक्षा के लिए जागरूक किया जाए। जिससे कि स्कूलों में नामांकन बढ़ने के साथ शिक्षा व्यवस्था को भी दुरुस्त किया जा सके। कोरोना काल में लगभग 11 महीने बाद अब स्कूल खुलने जा रहे हैं। जिसके चलते विभाग अपनी तैयारियां करने में जुटा है। बेहतर शिक्षण के लिए शिक्षक चौपालें लगाएंगे और लर्निंग आउटकम पर भी उनका जोर रहेगा। अधिकारियों की मानें तो लर्निंग आउटकम पर सरकार का सबसे ज्यादा जोर है और इसमें किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही स्कूल आने वाले विद्यार्थियों के सप्ताह में दो बार टेस्ट भी लिए जाएंगे, जिससे कि कमजोर विद्यार्थियों को छांटा जा सके। जो विद्यार्थी कमजोर पाए जाएंगे, रेमेडियल टीचिंग के जरिए उनका शैक्षिक स्तर बढ़ाया जाएगा।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र