पक्षियों के बाद अब इंसानो के लिए खतरा बना बर्ड फ्लू, रूस में मिला पहला इंसान जो है बर्ड फ्लू के वायरस H5N8 की चपेट में

 पक्षियों के बाद अब इंसानो के लिए खतरा बना बर्ड फ्लू, रूस में मिला पहला इंसान जो है बर्ड फ्लू के वायरस H5N8 की चपेट में


रूस में बर्ड फ्लू (Bird Flu Virus) के वायरस से इंसान के संक्रमित होने का पहला मामला सामने आया है। रूस के वेक्टर रिसर्च सेंटर ने पुष्टि की है कि उनके देश में सात लोगों के अंदर H5N8वायरस मिला है। ये सभी लोग एक ही पोल्ट्री फॉर्म में काम करते थे। 

      रूस के साथ ही यूरोप, चीन, उत्तरी अफ्रीका और पश्चिमी एशिया में यह वायरस (H5N8 strain) अभी तक सिर्फ पॉल्ट्री में पाया गया था। यह पहली बार है जब इस वायरस को इंसान में पाया गया है। इंसान में बर्ड फ्लू के वायरस मिलने के बाद स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चिंता बढ़ गई है। H5N8 वायरस स्ट्रेन इन्फ्लूएंजा ए वायरस का एक उपप्रकार है जो पक्षियों और मुर्गी में फ्लू में पाया जाता है। इससे लोगों को कम खतरा है, लेकिन यह पक्षियों के लिए घातक है। पिछले दिनों यह भारत के कई राज्यों में तेजी से फैला था, राजस्थान और मध्य प्रदेश में कौवों में भी पाया गया था।

      बर्ड फ्लू फैलाने के लिए कई वायरस जिम्मेदार होते हैं। लेकिन इसमें H5N1 को खतरनाक माना जाता है क्योंकि यही वायरस इंसानों में बर्ड फ्लू के संवाहक के तौर पर काम करता है। उन्हें इसका शिकार बनाता है। मानवों में बर्ड फ्लू के संक्रमण का पहला मामला साल 1997 में आया था जब हॉन्ग-कान्ग में मुर्गियों से एक शख्स में यह वायरस फैला था। हाल के दिनों में भारत के कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि हुई थी। कई जगहों पर कौए और अन्य पक्षी मरे हुए भी पाए गए थे।

      बर्ड फ्लू पक्षियों से फैलने वाला रोग है। संक्रमित पक्षी के संपर्क में आने से यह रोग इंसानों को हो जाता है चाहे पक्षी मरा हो या जिंदा हो दोनो से ही रोग फैलने का खतरा रहता है। बर्ड फ्लू के लिए एच5एन1 वायरस जिम्मेदार होता है। इसके एक अन्य स्ट्रेन को H5N8 के नाम से जाना जाता है। यह अपने पुराने वैरियंट की अपेक्षा ज्यादा खतरनाक है। 

       बर्ड फ्लू एक खास तरह का श्वास रोग होता है यह रोग इतना खतरनाक होता है कि इससे संक्रमित व्यक्ति की जान भी जा सकती है। इस रोग में गले में खराश, खांसी, निमोनिया, बुखार, मांसपेशियों में दर्द, जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं।

      बर्ड फ्लू से बचने के लिए एक ही तरीका है कि मरे हुए और संक्रमित पक्षियों से दूर रहे हैं और जिन लोगों को यह रोग हुआ है उनसे भी थोड़ी दूरी बना कर रखें।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
भ्रष्ट अधिशासी अभियंता के रहते नहीं हो सकता है योगी सरकार का सपना साकार- तिवारी
चित्र
डीएम अपूर्वा दुबे का प्रयास लाया रंग, कोरोना केसों से मुक्त हुआ दोआबा – तीन दिनों से नया केस न मिलने से अफसरो ने ली राहत की सांस
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र