प्लास्टिक के खिलौनों से बच्चों को रखे दूर

 प्लास्टिक के खिलौनों से बच्चों को रखे दूर



न्यूज़।प्लास्टिक के खिलौनों में इस्तेमाल होने वाले रसायनों के स्वास्थ्य जोखिमों को लेकर वैज्ञानिक सालों से चिंतित हैं। मगर एक हालिया शोध से पता चला है कि इन रसायनों से बच्चों को होने वाला खतरा कितना अधिक व्यापक है। इस हालिया वैश्विक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने खिलौनों की रासायनिक रचना और पदार्थों का इंसानों पर होने वाले खतरे के अनुमानित स्तर का आकलन किया। प्लास्टिक के खिलौनों में 100 से ज्यादा ऐसे हानिकारक रसायन पाए गए जो बच्चों की सेहत के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। डेनमार्क के तकनीकी विश्वविद्यालय से मात्रात्मक स्थिरता शोधकर्ता पीटर फैंटके का कहना है कि बच्चों के खिलौनों में इस्तेमाल होने वाले कठोर मुलायम और झाग वाली प्लास्टिक सामग्री में पाए जाने वाले करीब 419 रसायनों में से हमने 126 ऐसे पदार्थों की पहचान की जो कैंसर या गैर कैंसर के प्रभाव से संभावित रूप से नुकसान पहुंचा सकते हैं। इनमें 31 प्लास्टिसाइजर, 18 लौ रिटाड्रेंट और आठ सुगंध शामिल है। शोधकर्ताओं के अनुसार कई देशों में ऐसे कानून है जो प्लास्टिक के खिलौनों में कुछ संभावित विषैले रसायनों के उपयोग को प्रतिबंधित करते हैं। मगर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोई सुसंगत दृष्टिकोण नहीं है। वर्तमान सुरक्षा मानक ऐसे संभावित हानिकारक पदार्थों के व्यापक इस्तेमाल पर रोक नहीं लगाते हैं, जिनसे खिलौने बनाए जाते हैं।

Popular posts
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है