आयुर्वेद फॉर्मूले गंभीर गुर्दा रोगों में असरदार, किडनी के लिए संजीवनी बन सकती है नीरी केएफटी दवा

 आयुर्वेद फॉर्मूले गंभीर गुर्दा रोगों में असरदार, किडनी के लिए संजीवनी बन सकती है नीरी केएफटी दवा



न्यूज़।आयुर्वेद पर हो रहे अनुसंधान मौजूदा दौर में इसकी बढ़ती उपयोगिता पर मुहर लगा रहे हैं। फार्मास्युटिकल बायोलॉजी में प्रकाशित एक शोध में कहा है कि आयुर्वेद फार्मूले गंभीर गुर्दा रोगों में असरदार हैं। इनमें पाए जाने वाले एंटी आक्सीडेंट तत्व गुर्दे की कोशिकाओं में मौजूद विषाक्त द्रव्यों जैसे प्रतिक्रियाशील आक्सीजन प्रजातियों (आरओएस) के प्रभाव को तेजी से कम करती हैं। यह अध्ययन नई दिल्ली स्थित जामिया हमदर्द विश्वविद्याललय के शोद्यार्थियों ने किया हैं। विश्व गुर्दा दिवस से ठीक पहले इसके नतीजे जारी किए गए हैं। इस अध्ययन में आयुर्वेद में वर्णित चार औषधीय पादपो पुनर्नवा, वरुण, रेवंड चीनी तथा कमल शामिल है। इसके साथ ही इस अध्ययन में औषधीय फार्मूले नीरी केएफटी को भी शामिल किया गया जो पुनर्नवा,गोखरू,  वरुण, पत्थरूपरा व पाषाणभेद औषधीय पादपों से मिलाकर तैयार किया गया है।