जनता 2022 में ध्वस्त कर देगी भाजपा की गुंडई-विशम्भर निषाद

 जनता 2022 में ध्वस्त कर देगी भाजपा की गुंडई-विशम्भर निषाद



फतेहपुर । जिला पंचायत एवं क्षेत्र पंचायत के चुनाव में धांधली करके प्रचंड जीत का ढिंढोरा पीटने वाली भाजपा सरकार आगामी विधानसभा चुनाव में धूल भांति नजर आएगी। भाजपा सरकारी मशीनरी और बेईमानी के चाहे जितने भी हथकंडों का प्रयोग करें उसे जनता के आगे मुंह की खानी पड़ेगी। अखिलेश यादव के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में आगामी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ बनना तय है। समाजवादी पार्टी पूरे सूबे में 300 से अधिक सीटों पर विजय दर्ज करेगी। यह बात आज यहां नगर मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर गांव इंद्रो के समीप अपने जन्मदिन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से रूबरू होते हुये कहीं। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुये सपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद निषाद ने कहा कि जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत के चुनावों में सरकारी मशीनरी और गुंडागर्दी के बल पर भाजपा ने जो उपलब्धि हासिल की है वह आगामी विधानसभा में नही चल पायेगी। आम जनमानस भाजपा की सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग और उसके द्वारा अपनाये जाने वाले सभी हथकंडों को जनता ध्वस्त कर देगी। उन्होंने आरोप लगाया कि पूरे सूबे में कानून का नही आपताइयों का साम्राज्य चल रहो है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस, बसपा के नेता और कार्यकर्ता लगातार समाजवादी पार्टी में अखिलेश यादव की लोकप्रियता को देखते हुये शामिल हो रहे है। यह पूंछे जाने पर कि बसपा और कितना कमजोर होगी, के जवाब में कहा कि उसकी नीतियां ही उसे पतन की ओर ले जा रही है, कहा कि उनकी पार्टी किसी भी दल में तोड़फोड़ करने का कोई इरादा नही रखती, लेकिन बेहतर काम से प्रभावित होकर पार्टी में आने वालों का स्वागत है। एक अन्य सवाल के जवाब में निषाद ने कहा कि फतेहपुर की सभी 6 विधानसभा सीटे सपा के खाते में आने से कोई नही रोक सकता। आम जनमानस पूरी लगन और निष्ठा के साथ समाजवादी पार्टी से जुडता जा रहा है। इसके बाद निषाद के 59वें जन्मदिवस के अवसर पर सपाईयों ने केक काटकर खुशी का इजहार किया। इस अवसर पर उनकी पत्नी शकुन्तला निषाद के अलावा सपा जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव, पूर्व सांसद डा0 अशोक पटेल, पूर्व विधायक मदन गोपाल वर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष बीरेन्द्र सिंह यादवव, रामेश्वर दयाल गुप्ता, सुरेन्द्र सिंह यादव, लोहिया वाहिनी के जिलाध्यक्ष मो0 आजमखान के अतिरिक्त पार्टी नेताओं में नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के प्रतिनिधि मो0 हाजी रजा, रफी अहमद, प्रेमनाथ विश्वकर्मा, रीता प्रजापति, बृजेन्द्र सिंह यादव, रामबहादुर निषाद, संतोष निषाद, रावेन्द्र निषाद, सतेन्द्र सिंह यादव उर्फ रिन्कू, मो0 रहीम राईन, तनवीर हैदर नकवी, रवीन्द्र यादव आदि विशेष रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन जिला महासचिव देवी गुलाम कुशवाहा ने किया।

Popular posts
अब बुजुर्गों और माता पिता की देखभाल के लिए मिलेगा 10 हजार रुपये, मोदी सरकार बदलेगी नियम न्यूज़।माता-पिता और बुजुर्गों की देखरेख के लिए अब केंद्र सरकार नया नियम लाने जा रही है. दरअसल, मेंटनेंस और वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 पर मानसून सत्र में फैसला लिया जा सकता है. बता दें कि सोमवार से ही मानसून सत्र शुरू हो चुका है। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 केंद्र सरकार के एजेंडा में काफी समय से था. मानसून सत्र की शुरुआत में ही केंद्र सरकार इस बिल को लेना चाहती है. दिसंबर 2019 में पास कर दिया गया था ये नियम। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में पास कर दिया था। इस बिल का मकसद लोगों को माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों को छोड़ने से रोकना है। विधेयक में माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों की बुनियादी जरूरतों, सुरक्षा और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के साथ उनके भरण-पोषण और कल्याण का प्रावधान बनाया गया है। देश में कोविड-19 महामारी की दो विनाशकारी लहरों के मद्देनज़र आने वाला यह विधेयक मौजूदा सत्र में संसद द्वारा पास होने पर वरिष्ठ नागरिकों और अभिभावकों को अधिक पावर देगा. इस बिल को संसद में लाने से पहले कई बदलाव किये गये हैं. जानें इस नियम से संबंधित अहम जानकारी- वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में बच्चों का दायरा बढ़ाया गया है। इसमें बच्चे, पोतों (इसमें 18 साल से कम को शामिल नहीं किया गया है) को शामिल किया गया है. इस बिल में सौतेले बच्चे, गोद लिये बच्चे और नाबालिग बच्चों के कानूनी अभिभावकों को भी शामिल किया गया है। अगर ये बिल कानून बन जाता है तो 10,000 रुपये पेरेंट्स को मेंटेनेंस के तौर पर देने होंगे. सरकार ने स्टैंडर्ड ऑफ लिविंग और पेरेंट्स की आय को ध्यान में रखते हुए, ये अमाउंट तय किया है। कानून में बायोलिजकल बच्चे, गोद लिये बच्चे और सौतेले माता पिता को भी शामिल किया गया है। मेंटेनेस का पैसा देने का समय भी 30 दिन से घटाकर 15 दिन कर दिया गया है।
चित्र
तू मेरी गीता पढ़ले मैं पढ़ लू तेरी कुरान, आपस मे भाई चारा निभा के बनायेगे नया हिंदुस्तान
चित्र
पाल सामुदायिक उत्थान समिति की ब्लाक इस्तरीय संगठनात्मक बैठक हुई सम्पन्न
चित्र
कानपुर में ठेले पर पान, चाट और समोसे बेचने वाले 256 लोग निकले करोड़पति
चित्र
योगी सरकार लोगों को देने जा रही फ्री वाईफाई सुविधा
चित्र