हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षा नहीं होने से परीक्षार्थियों के पास स्क्रूटनी का विकल्प नहीं होगा

 हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षा नहीं होने से परीक्षार्थियों के पास स्क्रूटनी का विकल्प नहीं होगा



न्यूज़।यूपी बोर्ड की ओर से हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 का परिणाम जारी करने की तैयारी अंतिम दौर में है।कोरोना के कारण इस बार हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षा नहीं हुई, इससे परीक्षार्थियों के पास स्क्रूटनी का विकल्प नहीं होगा। बोर्ड द्वारा घोषित किए जाने वाले परिणाम से यदि परीक्षार्थी असंतुष्ट होते हैं तो उन्हें वैकल्पिक विषयों की परीक्षा देनी होगी। इसके लिए परीक्षार्थियों को परिणाम के बाद स्कूल के माध्यम से आवेदन करना होगा।यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा के 56 लाख परीक्षार्थियों का परिणाम 15 अथवा 16 जुलाई तक जारी कर सकता है।इस बार बोर्ड की ओर से परीक्षा परिणाम के साथ मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जाएगी।परिणाम बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइटब upmsp.up.nic.in ' पर जारी किया जाएगा। बोर्ड द्वारा इंटरमीडिएट का परिणाम 10 वीं, 11 वीं के वार्षिक परीक्षा का परिणाम एवं 12 वीं के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर तैयार किया जा रहा है। हाईस्कूल का रिजल्ट नौवीं कीवार्षिक परीक्षा के परिणाम के आधार पर तैयार किया जा रहा है।हाईस्कूल व इंटर का परिणाम जारी करने के बाद यदि अंकों को लेकर परीक्षार्थी संतुष्ट नहीं होते हैं तो स्क्रूटनी का विकल्प नहीं होने से उन्हें वैकल्पिक विषय की परीक्षा में शामिल होने का विकल्प दिया जाएगा।इससे पहले यूपी बोर्ड की ओर से छात्रों के पास परिणाम से असंतुष्ट होने की दशा में स्कूटनी का मौका रहता था।

Popular posts
जिले में महिलाओं के हत्या युक्त अज्ञात शव मिलने का नहीं थम रहा सिलसिला 3 दिन पहले मिली थी हत्या युक्त महिला का शव अभी तक नहीं हुई कोई शिनाख्त
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
15 हजार से कमाई कम तो मिलेगा बीमा और आयुष्मान कार्ड का लाभ, करना होगा यह काम
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र