नहीं हैं सुरक्षित बेटियां,नाबालिग को भगा ले गया अन्य समुदाय का व्यक्ति

 नहीं हैं सुरक्षित बेटियां,नाबालिग को भगा ले गया अन्य समुदाय का व्यक्ति



जहानाबाद/फतेहपुर, जहानाबाद थाना क्षेत्र के अर्गल बेहनोटा से एक दूसरे सम्प्रदाय का व्यक्ति नाबालिग को बहला फुसला के भगा ले गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ओम प्रकाश पुत्र दीनदयाल साहू अर्गल  बेहनोटा के रहने वाले हैं। वे अपनी दो बेटियों एवम एक पुत्र के साथ रहते हैं और राजगिरी का कार्य करके परिवार का भरण पोषण करते हैं 23 सितंबर के दिन में सभी बच्चे घर में थे और उनकी पत्नी लेटी थी लेटे लेटे पत्नी को नींद आ गयी शाम को जब नींद खुली तो दो बच्चे घर में थे बड़ी बेटी कहीं दिखाई ना पड़ने पर पत्नी ने बच्चों से बड़ी बेटी के बारे में जानकारी ली तो पता चला कि पड़ोस में रहने वाली उसकी सहेलियां रिहाना और अफसाना आई थी और उसे बुलाकर ले गई हैं। पत्नी बेटी को बुलाने के लिए रिहाना अफसाना जो कि पड़ोस में ही रहती हैं और इस्लाम की पुत्री हैं से बेटी के बारे में पूछा तो रिहाना अफसाना के साथ-साथ सानू तथा उसका बहनोई गुस्से में आ गए और भला बुरा कहने लगे पत्नी लौट आई। मैं जब घर पहुंचा तो पत्नी ने सारी दास्तान बताई मैं पुनः अफसाना रिहाना के घर गया मुझे फिर अफसाना रिहाना उसका भाई सोनू तथा बहनोई मिले मेरे पूछने पर उन्होंने अपशब्दों का प्रयोग किया तब मैंने कहा कि मेरी बेटी है पूछने में क्या गुनाह है तो वह लोग मुझे मारने पीटने लगे मैं जब इस आशय की रिपोर्ट करने के लिए थाने आ रहा था तब सानू मेरे पास आया और उसने कहा कि इसमें मेरा कोई कसूर नहीं है मेरा भाई इंसाफ उर्फ राजा तुम्हारी बेटी को चार पहिया वाहन में बैठाल कर कहीं ले गया है परंतु मुझे मालूम नहीं है कि कहां ले गया है।

ओमप्रकाश ने बताया कि मेरी नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर इंसाफ कहीं भगा ले गया है इस आशय की सूचना मैंने 23 सितंबर को जहानाबाद थाने में दी थी परंतु बार-बार जाने के बाद भी पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है और प्रभारी निरीक्षक मुझे डांटकर भगा देते हैं।

जब हमारे संवाददाता ओमप्रकाश से मिलने पहुंचे तब वह लोग एक सैकड़ा लोगों के साथ थाने का घेराव करने आ रहे थे परंतु रास्ते में ही भाजपा नेता लाल सिंह मिल गए उन्होंने बताया कि मैं प्रयास करूंगा आपके साथ में इंसाफ होगा आपलोग घर जाएं।

अब यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि अभी कुछ दिन पहले ही पुलिस की हीला हवाली के चलते एक युवती ने शोहदों से तंग आकर पुलिस में रिपोर्ट किया था परंतु नकारा पुलिस के कार्रवाई न करने के कारण डिप्रेशन में आकर युवती फांसी पर झूल गई थी। और अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी। अब देखना यह है कि जहानाबाद की सुस्त पुलिस व्यवस्था इस केस में क्या करती है

Popular posts
मूर्ति विसर्जन करने गए युवक की जमुना नदी में डूबकर हुई मौत पुलिस ने 21 घंटे बाद लाश की बरामद
चित्र
37 लोगों को लेकर जा रही ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटी, 11 लोगों की मौत
चित्र
ऐतिहासिक होता है खजुहा की रामलीला व मेला
चित्र
रहीम की टोपी राम के सर, नही है किसी का डर
चित्र
बिन्दकी नगर के अम्बेडकर चौराहे पर रथ यात्रा के दौरान बीजेपी के जिम्मेदार पदाधिकारियों ने पुलिस से दिखाई गुंडागर्दी
चित्र