अगवा कर जान से मारने की कोशिश, जान बचने पर सदर अस्पताल में भर्ती भाजपा नेता का भाई

 अगवा कर जान से मारने की  कोशिश, जान बचने पर सदर अस्पताल में भर्ती भाजपा नेता का भाई



जहानाबाद फतेहपुर। केंद्र व राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार होने के बावजूद जहां भाजपा लोगों की सुरक्षा का दम भर रही है तथा सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाकर महिलाओं तथा पुरुषों को जागरूक कर रही है और उनके बचाव के लिए तरह-तरह की योजनाएं चला रही है। वही उनकी यह योजनाएं जनपद फतेहपुर में विफल होती नजर आ रही हैं। आपको बताते चलें कि सौरभ सिंह त्रिलोकचंदी ग्राम मठ, मजरे बबई, थाना चाँदपुर, विधानसभा  जहानाबाद, जनपद फतेहपुर के रहने वाले है। जानकारी के अनुसार बीते दिनों सौरभ सिंह त्रिलोकचंदी के भाई को विपक्षी दल के लोग अगवा कर जान से मारने की साजिश रच रहे थे। किसी तरह सौरभ सिंह ने अपने भाई की जान बचाई तथा उसे सुरक्षित ले आए। सौरभ सिंह ने बताया कि उसके भाई संजय सिंह पुत्र बलराम सिंह को गांव के ही सुरेंद्र सिंह उर्फ अमित सिंह पुत्र शीतल सिंह, शीतल सिंह पुत्र स्वर्गीय पूरन सिंह तथा चांदपुर निवासी कौशलेंद्र सिंह उर्फ बाबादीन पुत्र गोपाल तथा उनके साथी 15 तारीख को सौरभ सिंह के भाई को अगवा कर ले गए थे तथा जान से मारने की कोशिश कर रहे थे। अभी सौरभ सिंह अपने भाई का इलाज जिला चिकित्सालय फतेहपुर में करवा रहा है। सूचना देने के उपरांत भी पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। विपक्षी लगातार घरवालों को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। वही सौरभ सिंह ने बताया कि वह भारतीय जनता पार्टी में एक कार्यकर्ता के रूप में सेवारत है। जनपद में पूर्णतया भाजपा की सरकार होने के उपरांत ना तो उसका फोन उठाया जाता है और ना ही जनप्रतिनिधि उससे बात करते हैं। सोचने वाली बात यह है कि जब भाजपा की सत्ता होने तथा भाजपा का उम्मीदवार होने पर सौरभ सिंह व उसके परिवार के साथ पार्टी का कोई सहयोग नहीं हो पा रहा है तो अन्य सरकार में आखिरकार कौन सहयोग करेगा। अभी तक भाजपा कार्यकर्ताओं को सौरभ सिंह के परिवार पर होने वाले अत्याचार के विषय में जानकारी तक नहीं है हालांकि लाख कोशिश के बावजूद सौरभ सिंह अपनी बात अपने नेताओं तक नहीं पहुंचा पा रहे है। किसी भी व्यक्ति के साथ इस तरह की अमानवीय घटना यदि घटित होती है सरकार कोई भी हो यदि उसका सहयोग नहीं कर पा रही है तो एक आम जन मानस अपनी समस्याओं के लिए किसके पास गुहार लगाएगा।