पट्टे की जमीन पर लगाए गए वृक्षों को कटवा कर जंगल में फेकवाया

 पट्टे की जमीन पर लगाए गए वृक्षों को कटवा कर जंगल में फेकवाया



कानपुर देहात।कानपुर नगर भीतरगांव बाना साढ़ चौकी के ग्राम बेटा बुजुर्ग निवासी कमलेश पासवान पुत्र भदई। जिसे सरकार द्वारा सन् 2008 में कृषि भूमि पट्टे पर दी गई थी। आधी खेती कमलेश के नाम थी और आधी खेती उसकी पत्नी मीना देवी के नाम थी।

उसमें कमलेश ने अपने हाथों से सत्रह पेड़ कटहल के, आम के 11 पेड़, व कुछ वृक्ष नीम के लगाये थे। कमलेश पासवान के

ही गांव के रहने वाले शिवराम सिंह पुत्र स्व0 घनश्याम सिंह व राधा किशन गुप्ता पुत्र टईया

दोनो लोगों की खेती उसके बगीचे से सटी थी। कई बार इन लोगों ने कमलेश को धमकी भी दी पेड़ काट लो, किंतु कमलेश ने पेड़ काटने से साफ मना कर दिया क्योंकि यह पेड़ उसने खुद लगाए थे और सभी पेड़ अब तैयार हो चुके हैं। इस पर 7 सितंबर 2021 की रात विपक्षियों ने चोरी छुपे समस्त पेड़ काट लिये व आम की

लकड़ी रायपुर के ऊसर में ट्रैक्टर में लादकर फेंका व अमरूद नीम के वृक्ष मौके पर कटे पड़े हैं। पीड़ित ने संबंधित के खिलाफ लिखित एफ आई आर दर्ज करवाई है किंतु अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। हरे वृक्षों के कटान से ना सिर्फ पर्यावरण बाधित होगा बल्कि मौजूदा सरकार के सपनों को भी बट्टा लगेगा अतः प्रशासन को उचित कार्यवाही करनी होगी जिससे अन्य कोई भी व्यक्ति हरे पौधों को ना काटे तथा धरती पर हरियाली बनी रहे जिससे लोगों को शुद्ध वातावरण वसुधा ऑक्सीजन मिल सके।

Popular posts
जिले में महिलाओं के हत्या युक्त अज्ञात शव मिलने का नहीं थम रहा सिलसिला 3 दिन पहले मिली थी हत्या युक्त महिला का शव अभी तक नहीं हुई कोई शिनाख्त
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
15 हजार से कमाई कम तो मिलेगा बीमा और आयुष्मान कार्ड का लाभ, करना होगा यह काम
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र