बुंदेलखंड किसान यूनियन में निषाद पार्टी का हुआ विलय कंधे से कंधा मिलाकर करेंगे कार्य

 बुंदेलखंड किसान यूनियन में निषाद पार्टी का हुआ विलय कंधे से कंधा मिलाकर करेंगे कार्य




संवाददाता बाँदा।उत्तर प्रदेश के बाँदा में आज निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के द्वारा प्रेसवार्ता करते हुए प्रमुख जानकारियों से अवगत कराया। निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद ने बताया कि आज जनपद बाँदा में हमारे आने का उद्देश्य यह है कि हमारी निषाद पार्टी के साथ आज बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष की अगुवाई में तमाम किसान हमारी पार्टी के साथ विलय करना चाह रहे है। जिसको लेकर मेरे द्वारा पत्रकार वार्ता का आयोजन करते हुए सभी को यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि अब निषाद पार्टी के साथ बुंदेलखंड किसान यूनियन कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगी हम आगामी 2022 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की सरकार से मिलकर उसका समर्थन करेंगे और सरकार बनते ही हम कई ऐसे नए कानूनों को बनाने का प्रस्ताव सरकार के पास रखेंगे जिससे समाज का भला हो सके सभी लोग जानते हैं कि किसान हमेशा से दीन हीन और निरीह ही रहा है उसे कभी सरकारी योजनाओं का उचित लाभ नहीं मिल पाया इसको लेकर के भी हम किसानों के लिए एक कानून बनाएंगे इतना ही नहीं किसानों गरीबों और पिछड़े वर्ग के लोगों के बच्चों को निशुल्क शिक्षा दिलाने की बात करेंगे इसके अलावा जिस तरह से महंगे महंगे कोचिंग सेंटरों में या विद्यालयों में हमारे गरीब व पिछड़े वर्ग के लोगों के बच्चे अपनी शिक्षा नहीं पा पाते हैं इसको लेकर भी सरकार से अपील करेंगे कि उन्हें निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाए आज हमारे देश का किसान परंपरागत खेती करके गुजारा कर रहा है जबकि कृषि विज्ञान इतना आगे बढ़ चुका है कि हर तरह से नई फसलों को होगा अगर किसान अपना विकास कर सकता है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा और उन्हें कृषि वैज्ञानिक विधियों के विषय में भी जानकारी नहीं हो पाती है इसको लेकर सरकार से हम यह अपील करेंगे कि हर ग्रामीण क्षेत्र में 1-1 कृषि विज्ञानिक तैनात किया जाए ताकि प्रदेश में किसानों का स्तर ऊपर उठ सके।