50 लाख की लागत से अधिक से कराए जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने दिए निर्देश

 50 लाख की लागत से अधिक से कराए जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने दिए निर्देश



फतेहपुर।जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में 50 लाख से अधिक से कराये जा रहे निर्माण कार्यो की सामीक्षा बैठक अधिकारियों के साथ संपन्न हुई । जनपद में रु0 398.03 करोड़ को लागत से कुल 50 कार्य कार्यदायी संस्थाओ द्वारा कराए जा रहे है, जिसमे रु0 212.49 करोड़ की लागत से राजकीय मेडिकल कॉलेज का निर्माण कराया जा रहा है । परियोजना प्रबंधक सीएनडीएस द्वरा बताया गया कि कुल 95 माइलस्टोन के सापेक्ष अब तक 74 माइलस्टोन का कार्य पूर्ण किया जा चुका है । परियोजना की भौतिक प्रगति 78 प्रतिशत है । प्रथम एलओपी के सभी कार्य पूर्ण हो चुके है। स्पोर्ट कालेज फतेहपुर का निर्माण रु0 33.64 करोड़ की लागत से कराया जा रहा है शासन द्वारा निर्धारित सभी कार्य मानक के अनुसार पूर्ण कर लिए गए है 50 मीटर बाउंड्रीवाल के प्लास्टर का कार्य शेष है, एक सप्ताह में कार्य पूर्ण कराकर हैंडओवर की कार्यवाही की जाएगी । जनपद में 08 गौसंरक्षण केन्द्र का निर्माण उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम लि0 द्वारा, ग्रामीण अभियंत्र विभाग, पीडब्ल्यूडी द्वारा कराया जा रहा है । उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम लि0 द्वारा गौसंरक्षण केन्द्र बुढ़वा का 97 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिया गया है विद्युत कनेक्शन का कार्य अवशेष है जिसे अधिशाषी अभियंता हाइड्रिल को जल्द से जल्द विद्युत कनेक्शन करने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिए । आधुनिक चीर घर, पर्यटन विभाग द्वारा ओमघाट भिटौरा भृग तपोवन सहिमापुर के पर्यटन के विकास का कार्य पूर्ण कर परियोजना संबंधित विभाग को हस्तांतरित कर दी गयी । उन्होंने सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओ को निर्देशित किया है कि जनपद में निर्माणाधीन सभी परियोजनाओं को गुणवत्तापूर्ण ससमय पूर्ण कराया जाय और हस्तांतरण के पूर्व परियोजनाओं की जनपद द्वारा कमेटी का गठन कर गुणवत्ता की जांच अवश्य करायी जाए । उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया जिन विभागों के निर्माण कार्य चल रहे है। समय-समय पर जाकर निर्माण कार्यो का स्थलीय जायजा लेते रहे कार्य को सम्बद्धता के साथ पूर्ण कराये ।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी जोगेन्द्र सिंह यादव, जिला कृषि अधिकारी ब्रजेश सिंह, जिला उद्यान अधिकारी रामसिंह यादव, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 आर0के0 अहिरवार सहित निर्माण कार्यदायी संस्थाएं व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।