प्रेम प्रसंग के चलते युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा

 प्रेम प्रसंग के चलते युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा



संवाददाता बाँदा :- एक राजमिस्त्री ने अपनी पत्नी के विवाद से क्षुब्ध व साली के प्रेम प्रसंग के चलते 

घर के आंगन में खड़े पिलर के जाल में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर लिया। शव का पंचनामा भरकर पोस्ट मार्टम के लिए  जिला मुख्यालय भेज दिया है।

पूरा मामला बबेरु नहर पटरी गायत्री नगर का है। जहां कमासिन थाना क्षेत्र के तिलौसा गांव के रहने वाले शिवविलाश उर्फ राजू प्रजापति पुत्र कल्लू प्रजापति अपने फूफा के मकान में रह कर राज मिस्त्री का कार्य करता था। रविवार को सुबह घर के आंगन में खड़े सीमेंट के पिलर पर लोहे की छड़ में रस्सी बांधकर   गले मे फंदा डालकर झूल गया। पड़ोस के व्यक्ति ने पिलर में राजू को चिपका देखकर पड़ोसी को जानकारी दिया। वह शिव बिलाश उर्फ राजू प्रजापति की पत्नी से पूछा तो बताया कि फांसी लगा लिया है। पड़ोस के लोगो ने पुलिस को सूचना दिया। पुलिस मौके में पहुचकर शव को फंदे से नीचे उतारा। हांथ में पेन से सोसायट नोट लिखा था और इसके अलावा एक कागज में सोसायट नोट पुलिस को मिला है। जिसमे साली के प्रेम  और साला छोटा का मारता है का जिक्र है। पुलिस ने पूछतांछ कर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के  जिला मुख्यालय भेज दिया है। मृतक की पत्नी माया देवी ने बताया कि रात भर दारू पिये औऱ मुझे मारपीट कर रहा था। सुबह 5 बजे के करीब फांसी लगा लिया है। फिलहाल पुलिस मिले सुसाइड नोट व परिजनों के अन्य जानकारी के अनुसार जांच पड़ताल में जुटी हुई है। परिजनों रिश्तेदारों से पूछताछ कर रही है पुलिस का कहना है, कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही विधिक कार्यवाही की जाएगी।

Popular posts
उत्तर प्रदेश फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021: इंतजार खत्म, योगी सरकार इसी माह से करेगी वितरण
चित्र
राजस्व वसूली एवं सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले के विरुद्ध दर्ज हुई एफ आई आर
चित्र
बुंदेलखंड जन अधिकार पार्टी ने जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद दास राजपूत को विधानसभा बांदा सदर से प्रत्याशी किया घोषित,
चित्र
पान मसाला विक्रेता के दुकान गोदाम में एसआईबी जीएसटी टीम का छापा
चित्र
दूल्हे के शराब पीने से दुल्हन ने तोड़ी शादी, कहा-शराबी के साथ पूरी ज़िंदगी नहीं गुजार सकती
चित्र