पी डब्लू आई अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों का शोषण जारी

 पी डब्लू आई अधिकारियों द्वारा  कर्मचारियों का शोषण जारी



अधिकारियों द्वारा अप्रशिक्षित कर्मचारियों से बिना सेफ्टी फ्लैग  व ब्लॉक मेन पटरियों पर हो रहा मरम्मत कार्य


ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों के साथ कभी भी हो सकती बड़ी दुर्घटना


 खागा (फतेहपुर) रेलवे स्टेशन खागा में  पी डब्लू आई पद पर तैनात अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों का शोषण व गैर जिम्मेदाराना रवैए से बिना सेफ्टी फ्लैग व ब्लॉक के मेन लाइन की पटरियों पर गुजरने वाली ट्रेनों में जान जोखिम डालकर अप्रशिक्षित कर्मचारियों से काम कराया जा रहा है।तथा बडी दुर्घटना को दावत दिया जा रहा है।

       बताया जाता है कि भारतीय रेलवे विश्व में सर्वाधिक रोजगार देने वाले संगठनों की सूची में शामिल हैं। और वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम द्वारा जारी रिपोर्ट में विश्व में सर्वाधिक रोजगार देने वाले संगठनों की सूची में भारतीय रेलवे का आठवां स्थान है। लेकिन विडंबना है कि खागा रेलवे स्टेशन पीडब्ल्यू आई विभाग में तैनात अधिकारी कृष्ण मुरारी यादव के दिशा निर्देशन व पीडब्ल्यू आई देव शरन के आदेशानुसार खागा रेलवे स्टेशन के सतनरैनी रेलवे स्टेशन के समीप 915/5-7 खम्भे के अंतर्गत मेन लाइन की पटरियों के ज्वाइंड सेक्शन पर बिना फ्लैग झंडी व बिना ब्लॉक लुब्रिकेशन के अप्रशिक्षित कर्मचारियों से काम कराया जा रहा है। और ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

        रेलवे ट्रैक पर काम कर रहे खागा पी डब्लू आई कारपेंटर कर्मचारी कीर्ति प्रकाश कुशवाहा ने बताया कि यहां पर अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों का शोषण किया जा रहा है और गैर जिम्मेदाराना तरीके से अप्रशिक्षित कर्मचारियों से मजबूरन काम कराया जा रहा है। और इन्होंने बताया कि दिल्ली से हावड़ा रूट में खागा से सतनरैनी रेलवे स्टेशन अप मेन लाइन व अप लूप लाइन के जोड़ पर बिना ब्लॉक लुब्रिकेशन के काम कराया जा रहा है। और अधिकारियों द्वारा कारपेंटर से बिना ट्रेनिंग प्रशिक्षण  के काम कराया जाता है। जबकि यह कार्य लोहार प्रशिक्षित कर्मचारियों का कार्य है।तथा इन्होंने बताया कि यहा पर कभी भी कोई बडी दुर्घटना घट सकती है। और साइड में हरिश्चंद्र  एमसीएम  ,कीर्ति प्रकाश कुशवाहा कारपेंटर, संजय पाल लोहार व नागेश ट्रैक मेंटेनर आदि  लोगों को काम में लगाया गया है । और देखरेख में कोई भी जिम्मेदाराना अधिकारी नहीं हैं। सभी लोग ऑफिस कार्यालय में उपस्थित रजिस्टर में हस्ताक्षर बनाकर कार्यालय बंद कर घूमते रहते हैं। और कर्मचारियों पर साइड में काम करने ना जाने पर ड्यूटी कार्ड देने का धौंस देते है।ड्यूटी रजिस्टर व पे सीट पर हस्ताक्षर भी नहीं कराया जाता है।

Popular posts
सदर सीट से प्रमोद द्विवेदी को चुनाव लड़ा सकती हैं भाजपा
चित्र
केशव मौर्या के भाजपा से प्रत्यासी घोषित होते ही समर्थकों ने दागे पटाखे,बांटी मिठाई
चित्र
मकरस्क्रान्ति त्यौहार के शुभ अवसर पर किशनपुर में लगा ऐतिहासिक मेला
चित्र
दारा सिंह चौहान के इस्तीफे से क्या पड़ सकता है सियासत पर बड़ा फर्क
चित्र
कोर्रा कनक किशोरी हत्याकांड में ललौली पुलिस ने किया खुलासा सगा भाई ही निकला हत्यारा।
चित्र