मैं तुम्हें बताऊँ क्या निजता ?

 "निजता"



मैं तुम्हें बताऊँ क्या निजता  ? 


            क्या शब्द ह्रदय के समझोगे  ?

या तुम भी औरों के जैसे, 

           . घातक हिय प्रहार कर दोगे  ? 

मैं हार नहीं सकती जग से, 

              कितना भी झूठ प्रबल होवे l

विश्वास सहारे तेरे ही, 

               जीवन-नौका मैं सकती खे l

हर दोराहे पर चलकर भी, 

           क्या मुझको ही तुम चुन लोगे ?

मैं तुम्हें बताऊँ क्या निजता? 

            क्या शब्द ह्रदय के समझोगे  ?

मैं नियम नहीं कोई जानूँ, 

              मम् भाव सरलतम ह्रदय के l

क्या भावों की पावनता को, 

             तुम हटकर सबसे समझोगे ? 

विश्वास ह्रदय की शून्य उपज, 

                है समाविष्ट  ह्रदय तल में l

विश्वास संग ये गहराई  , 

              क्या समझ ; साथ मेरा दोगे? 

क्या करूँगी शब्दों को कहकर, 

               मैं बुनूं भला क्यों शब्दजाल?

क्या मूक भाव होकर तुम भी, 

             मम् मूक भाव को समझोगे  ?

या तुम भी औरों के जैसे, 

             घातक हिय प्रहार कर दोगे  ?

बनकर प्रहरी मम् निजता के, 

               श्रृंगार मेरा तुम कर दोगे  ? 

क्या बनकर के काजल भी तुम, 

                 नूर नयन में भर दोगे  ? 

शून्य भाव की अपलकता, 

                   हो निर्निमेष की प्रबलता l

क्या हाथ थामकर मेरा तुम, 

                भव सागर पार करा दोगे  ? 


रश्मि पाण्डेय

बिंदकी, फतेहपुर

Popular posts
न्यायालय के आदेश पर मुनादी पिटवाकर ललौली थानाध्यक्ष ने आरोपी के घर कुर्की की नोटिस किया चस्पा
चित्र
खेलकूद प्रतियोगिता में रामा डिफेंस एकेडमी ने हासिल किए सबसे ज्यादा पदक।
चित्र
बावनी इमली में लगे ठाकुर जोधा सिंह अटैया के चित्र में अपमानजनक हरकत करने वाले के खिलाफ मुकदमा लिखने के लिए अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने दिया प्रार्थना पत्र
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से फिर हुई है किसान की मौत
चित्र
नर कंकाल ने खोलें दोहरे हत्या का राज, दो गिरफ्तार
चित्र