अवैध प्लाटिंग व निर्माण रोकने के लिए मंडलायुक्त ने केडीए उपाध्यक्ष की अगुवाई में संयुक्त जांच समिति गठित

 अवैध प्लाटिंग व निर्माण रोकने के लिए मंडलायुक्त  ने केडीए उपाध्यक्ष की अगुवाई में संयुक्त जांच समिति गठित 



कानपुर।शताब्दी नगर जवाहर पुरम के आसपास सुनियोजित विकास कराने वहां अवैध प्लाटिंग व निर्माण रोकने के लिए मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर ने केडीए उपाध्यक्ष की अगुवाई में संयुक्त जांच समिति गठित की है। साथ ही अवैध और भारी मालवाहक वाहनों से मंधना-बैराज-शुक्लागंज मार्ग को होने वाले नुकसान का आकलन करने का भी आदेश दिया है। इसके लिए भी एक कमेटी बनी है। कमेटी 14 दिन में परीक्षण कर बताएगी कि भारी वाहनों से सड़क व बंधे को होने वाले नुकसान को कैसे रोका जा सकता है।

गंगा बैराज को कानपुर के प्रवेश द्वार के रूप में विकसित किया जाना है। इसे पर्यटन मानचित्र पर भी लाने की योजना है। यही वजह है कि गंगा जैव विविधता पार्क को 50 एकड़ में बनाने की प्रक्रिया चल रही है तो बोटेनिकल गार्डन के उपयोग को लेकर भी परीक्षण किया जा रहा है। बोट क्लब में जल क्रीड़ा की तैयारी हो रही है। इसलिए यहां आसपास पनकी कल्याणपुर गंगागंज कपली आदी अवैध निर्माण को रोकने, बैराज व आसपास के क्षेत्र का सुनियोजित विकास कराने के लिए ही एनसीआर की तर्ज पर विकास की योजना मंडलायुक्त ने तैयार की है। इसे अमलीजामा पहनाने को गंगा बैराज क्षेत्र विकास समिति बनाई गई है।शिविर कार्यालय में आयोजित बैठक में मंडलायुक्त ने कहा कि क्षेत्र के सीमांकन के साथ ही मानचित्र बनाने का काम ङ्क्षसचाई विभाग 15 दिन में कर ले और अगली बैठक में उसे पेश करे। वहीं, अनियोजित विकास को रोकने और विधिक कार्रवाई के लिए कमेटी गठित की गई, जिसमें केडीए उपाध्यक्ष, सिंचाई विभाग और पुलिस विभाग के अफसरों को शामिल किया गया है। बैठक में केडीए वीसी , नगर आयुक्त केडीए सचिव एसपी सिंह, एडीएम सिटी उपस्थित रहे।