प्राथमिक विद्यालय के मुख्य गेट के सामने ग्रामीण कर रहे पशु पालन

 प्राथमिक विद्यालय के मुख्य गेट के सामने ग्रामीण कर रहे पशु पालन



अमौली(फतेहपुर)। जनपद अमौली विकास खण्ड के ग्राम पंचायत आजमपुर गढवा मजरे पुरेराहत अली गांव में प्राथमिक विद्यालय के बाहर ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण कर पशु पालन किया जा रहा है।जिससे पशुओं का गोबर,मल मूत्र,खुली हवा में दुर्गन्ध से स्कूल में बच्चों का साँस लेना दूभर हो गया है।विद्यालय के मुख्य द्वार के सामने घूरे के ढेर भी जमा हुए है।जिससे विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र,छात्राओं में खुली हवा में साँस लेना भी दुश्वार है।इससे संक्रामक बीमारियां, मलेरिया,डेंगू,जैसी बीमारी से ग्रसित होने की संभावनाये भी बनी रहती है।जब की कोरोना, ओमीक्रान का खतरा बढ़ता जा रहा है।सरकार साफ सफाई को लेकर लोगो को जागरूक कर रही है।विद्यालय परिषर के मुख्य द्वार पर बंधे जानवर को हटवा कर उपरोक्त स्थान की साफ सफाई कराये जाने को कोई भी जिम्मेदार प्रभावी कदम उठाया जाना अभी तक मुनासिब नही समझा।जब की जिम्मेदार लोगो का उपरोक्त मार्ग से हमेशा आना-जाना रहता है।प्रधान समेत कई जिम्मेदार अधिकारी विद्यालय के मुख्य द्वार पर अतिक्रमण को हटवा कर सफाई कराया जाना उचित नही समझा है।किसी भी जिम्मेदार ने इस ओर अपना ध्यान आकर्षित न करते हुए नौनिहाल बच्चों की जिंदगी से खेल रहे है।सरकार एक तरफ स्वच्छ भारत अभियान के तहत लोगो को जागरूक कर रही है।ग्रामीण और जनता को साफ सफाई के बारे में जानकारी दे रही है।इसके बावजूद गांव के शिक्षा के मंदिर में मुख्य गेट के सामने अतिक्रमण कर सफाई की स्थिति बदहाल होती नजर आ रही है।