यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने अखिलेश यादव पर जमकर किया हमला

 यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने अखिलेश यादव पर जमकर किया हमला



फतेहपुर।प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा किअखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा की जिसको सब कुछ विरासत में मिला इसलिए उसे कुछ पता नहीं , यूपी जैसे महत्वपूर्व राज्य में मुख्यमंत्री रहते हुए पूरे पांच साल इन्होने वीडियो गेम खेलने में ट्वविटर में और फेसबुक में बीता दिया , कुछ भी कह देना फिर गुलाटी मार लेना थूक के चाटने वाला कहावत इनके ऊपर चरितार्थ बैठती है , जैसे जब पूरी दुनिया कोरोना से कराह रही थी , हमारे देश के वैज्ञानिकों ने वैक्सीन इजात की उसका मजाक उड़ाने का काम किया था की हम भाजपा का वैक्सीन नहीं लगाएंगे , मैं मुलायम सिंह जी को धयवाद देना चाहता हूँ की उन्होंने बेटे द्वारा फैलाये भ्रम को समाप्त करने का काम किया जिसके बाद उन्होंने वैक्सीन लगवाया तो थूक के चाटने वाली कहावत सही हुई तो वह भी कहने लगे की वैक्सीन लगवाना चाहिए।अखिलेश पर पलटवार करते हुए कहा की अभी कुछ दिन पहले अखिलेश जिन्ना को देश का आदर्श बताने लगे कल कहो वह ओसामा बिन लादेन को अपने पिता के बराबर खड़ा कर दे , ओसामा बिन लादेन को राष्ट्र पिता बताने लगे केवल केवल कोई उन्हें पर्ची में लिखकर दे देता है यह बोल दो तो मुस्लिम समाज का वोट मिल जाएगा , किसी ने समझाया होगा की तुम मुस्लिम मुस्लिम कर रहे हो हिन्दू नाराज हो रहा है तो तो वह परशुराम और जनेव दिखाने लगे , यह लोग भ्रमित हैं , जनता इतनी जागरूक है की 2014 ,2017 और 2019 में इन्हे समाप्त किया , बसपा व सपा दोनों इकठे हुए तो जनता ने कहा की चोर चोर मौसेरे भाई यह लोग इक्कठा हो रहे हैं तो होने तो हमे इक्कठा होकर भाजपा को जिताना है।मुस्लिम लॉ बोर्ड द्वारा दिए गए बयान की स्कूल में सूर्य नमस्कार के दौरान मुस्लिम बच्चों को इससे किनारा हो जाना चाहिए वाले सवाल पर पलटवार करते हुए कहा की जो भी लोग इस तरह की बयानबाजी करते हैं यह तकिया नुशी सोंच है , यह नहीं चाहते की इनके बच्चे आगे बढे और इसमें सबसे ज्यादा दोषी कांग्रेस है फिर सपा व बसपा है , इन्होने कभी ऐसा नहीं सोचा की बच्चों को समाज के मुख्य धरा से जोड़ें। यह लोग यह सोचते हैं की इनके बच्चे साइकिल का पंचर बनाते रहे , एसी के मिस्त्री बन जाए यह स्कूटर के मिस्त्री रहे यह इनलोगों ने सोचा अल्पसंख्यक वित्त विभाग निगम , जिसमे अल्पसंख्यक मंत्री चाहे जो रहा हो चाहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी रहे हो यह फिर चाहे आजम खान रहे हो यह 15 साल से बंद पड़ा हुआ था। हम जाकर भारत सरकार से पैसा लाये बच्चों को मुख्य धरा से जोड़ने के लिए ,डॉक्टर बनने के लिए हमलोगों ने लोन दिया ब्यूटी पार्लर खोल रही बिटिया उसके लिए लोन दिया , हम चाहते हैं की एक हाथ में कुआं हो और दूसरे हाथ में लैपटॉप।