ये है दुनिया की सबसे लंबी कार, खासियत जानकर उड़ जाएंगे होश; हेलीकॉप्टर लैंड करने तक की व्यवस्था

 ये है दुनिया की सबसे लंबी कार, खासियत जानकर उड़ जाएंगे होश; हेलीकॉप्टर लैंड करने तक की व्यवस्था


आज हम आपको एक ऐसे कार के बारे में बताने जा रहे हैं जो दुनिया की सबसे लंबी कार तो है ही साथ ही साथ इसमें स्वीमिंग पुल हेलीकाप्टर उतरने की व्यवस्था समेत बहुत कुछ है। इस गाड़ी ने नया वर्ड रिकॉर्ड भी बना लिया है


नई दिल्ली। दुनिया में एक से बढ़कर एक कारें मौजूद हैं, जिनमें कंफर्ट और लग्जरी दोनों ही मौजूद होते हैं। लेकिन अब एक ऐसी शानदार कार सामने आई है, जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे और देख के आपकी आंखे खुली की खुली रह जाएंगी। जी हां एक ऐसी कार, जो ना सिर्फ कंफर्ट के लिए बनाई गई है, बल्कि इस कार में आपको लग्जरी का असली मायने पता चले देखने को मिलेगी। स्विमिंग पूल, हेलीपैड, डाइविंग बोर्ड, जकूजी, बाथटब और मिनी गोल्फ कोर्स के साथ यह कार दुनिया की सबसे लंबी और लग्जरी कार हो गई है।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल- दिल थाम बैठिए, क्योंकि इस कार की खासियत सुनकर यकीनन आपके दिल की धड़कन तेज होने वाली है। इस शानदार कार ने दुनिया की सभी लग्जरियस कारों का रिकॉर्ड तोड़ते हुए, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है, जिसमें 'द अमेरिकन ड्रीम' नाम का सुपर लिमो अब 30.54 मीटर (100 फीट और 1.50 इंच) का बताया गया है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) ने इसे दुनिया की सबसे लंबी कार के रूप में दर्ज किया है।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने अपनी वेबसाइट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस शानदार कार की तस्वीर साझा की, जिसमें कार औसतन लंबाई 12 से 16 फीट बताई गई है।

आपको बता दें कि यह कार पहली बार 1986 में प्रसिद्ध कार कस्टमाइज़र जे ओहरबर्ग द्वारा बरबैंक, कैलिफ़ोर्निया में बनाई गई थी, 'द अमेरिकन ड्रीम' मूल रूप से 18.28 मीटर (60 फीट) मापा गया, जिसके 26 पहिये थे। इस कार में आगे और पीछे V8 इंजन की एक जोड़ी थी। जिसे ओहरबर्ग ने बाद में, लिमो को एक आश्चर्यजनक तरीके से 30.5 मीटर (100 फीट) लंबा कर दिया।इसका की पार्किंग की बात करें तो, आप इसे फोर्टवो कारों को एक फाइल लाइन में पार्क कर सकते हैं, फिर भी द अमेरिकन ड्रीम अभी भी उन सभी से अधिक लंबी होगी।

रेफ्रिजरेटर, टेलीफोन और कई टीवी सेट के साथ कार में एक बार में 75 से अधिक लोग बैठ सकते हैं। अपने प्रमुख वर्षों के दौरान, कार ने कई फिल्मों में प्रदर्शन किया और किराए पर ली गई। हालांकि, इसकी रखरखाव लागत और पार्किंग मुद्दों के कारण इस गाड़ी को जंग लगने के लिए छोड़ दिया था, जिसे पुन: जीवित किया गया है।

इस गाड़ी को बनने में इतनी लगी लागत।गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के अनुसार, रिस्टोर्ड के काम में शिपिंग, सामग्री और लेबर वर्क में 250,000 डालर का खर्च आया और इसे पूरा करने में तीन साल लगे हैं। हालांकि, इस गाड़ी को आप सड़क पर नहीं देख सकते हैं, क्योंकि इसे डीज़रलैंड पार्क कार म्यूजियम में रखा जाएगा।