पूर्व सैनिक संयुक्त संगठन के सचिव ने जिलाधिकारी को सौंपा शिकायती पत्र

 पूर्व सैनिक संयुक्त संगठन के सचिव ने जिलाधिकारी को सौंपा शिकायती पत्र



फतेहपुर। पूर्व सैनिक संयुक्त संगठन के सचिव कैप्टन मेवा लाल वर्मा ने आज कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी को एक शिकायती पत्र सौंपते हुए बताया कि कामेश्वर रोड फतेहपुर में स्थित विकास हॉस्पिटल एवं प्रसव केंद्र के बारे में कहा कि इसे तुरंत जांच करके बंद किया जाए अन्यथा पता नहीं कितनी नवजात शिशुओं की जान ली जाएगी एवं प्रश्नों के नाम पर बहन बेटियों की जान के साथ खिलवाड़ होगा उन्होंने बताया कि 28 फरवरी की घटना है जिसमें मेरी स्वयं की बेटी अन्नपूर्णा वर्मा उम्र 29 साल पत्नी रितु राज उर्फ धर्मेंद्र सोनी ग्राम बा डोरी थाना कल्याणपुर जिला फतेहपुर निवासी को 28 फरवरी को उसी गांव की आशा बहू ममता द्वारा विकास हॉस्पिटल फतेहपुर प्रसव के लिए दिन में 2:00 बजे लाया जाता है पर वहां पर कोई सुविधा ना होते हुए भी नॉर्मल डिलीवरी का झांसा देकर एडमिट किया जाता है आशा बहुओं विकास हॉस्पिटल के डॉक्टर विकास एवं डॉक्टर गुलाब की सांठगांठ चलती है परिणाम यह हुआ कि 28 फरवरी की रात 12:38 पर बहुत मशक्कत के बाद नार्मल डिलीवरी कराई गई जिसमें बच्चा मरणासन्न स्थिति में पैदा हुआ जब उसमें कोई हरकत नहीं दिखी तो उसे बिना मलेशिया सीजन के मोटरसाइकिल द्वारा जेके हॉस्पिटल डॉक्टर उमराव फतेहपुर के यहां ले जाकर भर्ती किया जाता है वहां 4 दिन वेंटिलेटर पर रखने के बाद 4 मार्च को बच्चे की मौत हो जाती है अभी मां अन्नपूर्णा भी ठीक से स्वस्थ नहीं हुई है दिनांक 6 मार्च को जब पूर्व सैनिक सहयोग संगठन जनपद फतेहपुर के अध्यक्ष एवं कुछ पूर्व सैनिक उस अस्पताल का जायजा लेने पहुंचे तो वहां डॉक्टर विकास एवं एएनएम गीता जिन्होंने प्रसव कराया था उनसे पूछताछ किया एवं मीडिया का नाम लिया तो पूरा स्टाफ वहां से भाग गया जिलाधिकारी से मांग है कि इस तरह क्लीनिक जिनके पास मानक के अनुरूप सुविधाएं नहीं है उन्हें फतेहपुर जिले के सभी अस्पतालों में क्लीनिक की जांच करके तुरंत बंद कराया एवं दोषियों के साथ दंडात्मक कार्यवाही की जाए इस मौके पर नरेश कुमार शिव शंकर सिंह राम सिंह यादव हरिशंकर सिंह चौहान अध्यक्ष अशोक कुमार नरेंद्र सिंह चौहान डीएस शुक्ला आरके मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे।