जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई विकास कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक

 जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई  विकास कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक 



बांदा संवाददाता। जिलाधिकारी अनुराग पटेल की अध्यक्षता में मासिक विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्टेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुयी जिसमें उन्होंने निर्देश दिये कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य किया जाये।

सिंचाई, विद्युत, लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम, पंचायती राज विभाग, उद्योग बन्धु, श्रम पोर्टल, खादी ग्रामोद्योग, सी0एल0डी0एस0, जल निगम, यू0पी0सिडगो, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग आदि की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जितनी भी लाभार्थीपरक योजनायें हैं उनकी प्रगति पूर्ण कर ली जाए और विकास से सम्बन्धित जितने भी कार्य अभी तक बन्द थे उन्हें शीघ्र शुरू करा दिया जाये और जिन विभागों के नये कार्य होने हैं वे स्वीकृतियां प्राप्त कर तत्काल कार्यों को प्रारम्भ करा दें। उन्होंने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन एवं एम0एल0सी0 चुनावों की अधिसूचना समाप्त हो गयी है इसलिए जो नये निर्माण कार्य होने हैं उन्हें प्रारम्भ करा दिया जाए। सेतु निगम की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित विभाग द्वारा बताया गया कि बागै नदी तथा औगासी नदी के पुल के निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री सम्मान निधि एवं फसल बीमा योजना में सम्बन्धित विभाग द्वारा जानकारी दी गयी कि व्यक्तिगत दावों का सर्वे का कार्य चल रहा है। उन्होंने अंतिम माह मार्च तक पूर्ण करने के निर्देश दिये।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए पाया गया कि हेल्थ वेलनेश सेन्टर 145 स्वीकृत हुए थे जिसकी सूची जिलाधिकारी ने तहसील वाइज मांगी तथा अधूरे कार्यों को 31 मार्च, 2022 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने समस्त सी0एच0सी0 एवं पी0एच0सी0, 102 व 108 एम्बूलेन्स, जननी सुरक्षा योजना, कोविड वैक्सीनेशन टीकाकरण की समीक्षा जिसमें बताया गया कि एम्बूलेन्स सक्र्रिय हैं।

इसी प्रकार पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान अपर जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि कायाकल्प योजना के अन्तर्गत गोद लिये गये 202 स्कूलों का भी कायाकल्प कराया जा रहा है तथा पंचायत भवनों का निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। आॅपरेशन कायाकल्प  के अन्तर्गत समस्त ग्राम पंचायतों में हैण्डपम्प रीबोर एवं खराब हैण्ड पम्पों को ठीक कराने की जिम्मेदारी खण्ड विकास अधिकारियों की है। यदि किसी भी ग्राम पंचायत में हैण्ड पम्प रीबोर या खराब की स्थित में है तो उन्हें अभियान चलाकर ठीक कराया जाए, क्योंकि पेयजल टाॅप प्रायटी है जिसमें कोई समझौता नही होगा। इसीलिए सभी लोग सजग रहें और जैसे ही सूचना मिले उन्हें तत्काल ठीक करायें। इसी प्रकार अमृत पेयजल परियोजना के कार्यों में प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये। कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत 10472 आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे उन्हें अभियान चलाकर पूर्ण कराया जाए और प्रतिदिन इसकी सूचना जिलाधिकारी को दी जाए। इसी प्रकार 2022-23 में वृक्षारोपण के लक्ष्यों की समीक्षा की जिसमें प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल द्वारा बताया गया कि अगले वित्तीय वर्ष के लिए 5194454 का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि माइक्रो प्लानिंग में प्रजातियों को चिन्हित करते हुए वृक्षारोपण की अग्रिम तैयारी की जाए।

श्री पटेल ने समस्त विभागों को निर्देशित किया कि वित्तीय वर्ष समाप्त हो रहा है अपनी प्रगति सभी लोग ठीक कर लें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री वेद प्रकाश मौर्य, डिप्टी कलेक्टर सौरभ यादव, डिप्टी कलेक्टर लाल सिंह यादव, जिला विकास अधिकारी रवि किशोर त्रिवेदी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी संजीव बघेल सहित जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।