मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आगामी 21 अप्रैल को होने वाले अप्रेन्टिसशिप मेला को लेकर बैठक संपन्न

 मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आगामी 21 अप्रैल को होने वाले अप्रेन्टिसशिप मेला को लेकर बैठक संपन्न



फतेहपुर।विकास भवन सभागार में मुख्य विकासधिकारी सत्य प्रकाश की अध्यक्षता में अप्रेन्टिसशिप मेला 21 अप्रैल 2022 के सम्बन्ध में एक बैठक का आयोजन किया गया , जिसमें सरकारी विभाग एवं उद्योगों तथा अधिष्ठानों के प्रबन्धकों के द्वारा प्रतिभाग किया गया । मुख्य विकास अधिकारी  ने बताया कि यदि जनपद फतेहपुर में पंजीकृत 120 छोटे उद्योग कम कम 01-01 बच्चे को योजित करने का लक्ष्य रख लें तो नीति आयोग की रैंकिंग में आसानी से जनपद रैंकिंग में सुधार आ सकता है । जिसमें आई ० टी ० आई ० उत्तीर्ण प्रशिक्षार्थियों को उद्योगों तथा सरकारी विभागों में योजित किये जाने के सम्बन्ध में विस्तार से वार्ता की गई । उक्त बैठक में आई ० टी ० आई ० प्रधानाचार्य ने बताया कि आई०टी०आई० पास प्रशिक्षार्थियों को उद्योगों में एक वर्ष के प्रशिक्षण अवधि के व्यवसाय हेतु 7700.00 रू० एवं 02 वर्ष के प्रशिक्षण अवधि के व्यवसाय के प्रशिक्षार्थियों हेतु 8050.00 रू ० का मानदेय देना प्रस्तावित है । जिसमें 1500.00 रू 0 केन्द्र सरकार द्वारा तथा 1000.00 रू ० राज्य सरकार द्वारा उद्योग को तिमाही आधार पर दिया जायेगा । उन्होनें बताया कि इससे उद्योगों को 1 वर्ष के लिये कम मानदेय पर प्रशिक्क्षु मिल जायेगा और प्राशिक्षुओं को उद्योगों में कार्य करने एवं नये नये उपकरणों को चलाने का अनुभव भी मिलेगा । इस हेतु उद्योगों को एन०ए०पी०एस० पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और मेले में प्रतिभाग करना होगा और साक्षात्कार के माध्यम से प्रशिक्षार्थियों का चयन करना होगा । उक्त हेतु सम्बन्धित उद्योग अपनी फर्म के सी ० एस ० आर ० फण्ड का प्रयोग भी मानदेय देने में कर सकते हैं । प्रधानाचार्य द्वारा बताया गया कि यदि किसी उद्योग में 30 से ज्यादा कर्मचारी हैं तो उनको अप्रेन्टिसशिप हेतु अपने समस्त कर्मचारी के सापेक्ष 2.5 से 15 प्रतिशत तक प्रशिक्षुओं को रखना अनिवार्य है । उक्त मेले में लगभग 1000 प्रशिक्षार्थियों के आने की सम्भावना है , उद्योगों को प्रशिक्षुओं के खाते के माध्यम से मानदेय का भुगतान करना है , उक्त मेले में शासन की तरफ से 100 शिशिक्षुओं को योजित करने का लक्ष्य प्रदान किया गया है । 

प्रधानाचार्य ने बताया कि आने वाले समय में डी ० एस ० टी ० के अन्तर्गत विभिन्न उद्योगों में प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण अवधि के आधे समय में उद्योगों में कार्य करने का मौका मिलेगा । उन्होंने समस्त विभागों को यह निर्देश दिये गये कि  21 अप्रैल 2022 में मेले में अपना - अपना स्टाल अवश्य लगायें । उक्त मेले में मुख्य विकास अधिकारी एवं प्रधानाचार्य  द्वारा राजकीय आई ० टी ० आई ० एवं प्राइवेट आई ० टी ० आई ० से उत्तीर्ण अधिक से अधिक प्रशिक्षार्थियों से मेले में आने की अपील की गई , जिससे उनको अपने जनपद में ही रोजगार मिल सकें । इस मौके पर प्रधानाचार्य आईटीआई डॉ0 नरेश कुमार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं उद्योगों की तरफ से प्रबन्धकों द्वारा प्रतिभाग किया।