6 महीने से वेतन न मिलने की वजह से आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार ने सहयोगी शिक्षकों के साथ बैठे धरने पर।

 6 महीने से वेतन न मिलने की वजह से आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार ने सहयोगी शिक्षकों के साथ बैठे धरने पर।



फतेहपुर।उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक परिसद फतेहपुर में विश्वनाथ बाजपेयी जोकि सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कॉलेज वी०आई०पी०रोड फतेहपुर में संस्थापक सदस्य हैं। और पूर्व में कोषाध्यक्ष भी रह चुके है।जोकि लगभग 65 वर्षों से

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयं सेवक हैं। इस बीच 12 वर्ष तक नगर  प्रमुख भी रहें।सरस्वती शिशु मन्दिर चौक फतेहपुर में प्रबन्धक पद पर भी सेवा दी साथ ही विश्व हिन्दू परिषद का जनपद-फतेहपुर के प्रथम मंत्री भी रहें। इस समय जिनकी उम्र लगभग 87 वर्ष है।  सन् 2010 में रेजन्सी अस्पताल कानपुर में प्रोस्टेट कैंसर का आपरेशन हुआ था। डॉक्टर ने कहा था कि आप अधिकतम 10 वर्ष जीवित रहेंगे। अब बोनस की जिन्दगी गुजार रहे हैं। जिनके जीवन का कोई भरोसा नहीं।विस्व नाथ बाजपेयी के पुत्र आशुतोष बाजपेयी की नियुक्ति सन् 1999 में सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कॉलेज वी०आई०पी०रोड फतेहपुर में सहायक आचार्य पद पर हुई थी, तभी नियमानुसार विद्यालय की विश्वनाथ बाजपेयी ने प्रबन्ध समिति के पद से त्याग पत्र दे दिया था। तब से साधारण सभा के सदस्य बने हुए हैं।आशुतोष अपनी नियुक्ति के समय से आर०एस०एस० ज्वाइन करके आई०टी०सी० एवं

ओ0टी0सी0 का प्रशिक्षण लिया और निरन्तर दिन-प्रतिदिन संघ तथा विद्यालय का कार्य पूर्ण

निष्ठा के साथ करता आया है।

विश्वनाथ तथा उनके पुत्र की इन सेवाओं के बदले में पुरस्कार स्वरूप आशुतोष का माह नवम्बर 2021से अब तक के बीच 6 माह का वेतन नहीं मिला। विद्यालय प्रबंधन ने उत्पीड़न करने के उद्देश्य से बिना किसी कारण के पहले कन्नौज ट्रांसफर कर दिया। कन्नौज के प्रबन्धक ने ज्वाइन नहीं कराया तब पुनः उरई जालौन ट्रान्सफर कर दिया। जबकि उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा अधिनियम 1921 तथा वित्तविहीन नियमावली

दिनांक-10.08.2001 में वित्तविहीन विद्यालयों में किसी अध्यापक/प्रधानाचार्य का ट्रांसफर का कोई नियम नहीं है। नवम्बर माह से अब तक का कोई वेतन नहीं मिला। जबकि पीड़ित प्रतिदिन विद्यालय जा रहा है आशुतोष ने वित्तविहीन नियमावली दिनांक 10/08/2021 के अंतर्गत सक्षम अधिकारी जिला विद्यालय निरीक्षक फतेहपुर को दिनांक 25/02/ 2022 को अपील किया और बताया कि प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा, संयुक्त शिक्षा निदेशक प्रयागराज, जिला अधिकारी फतेहपुर, जिला विद्यालय निरीक्षक फतेहपुर ने अपील को जल्द से जल्द निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं। परंतु विद्यालय ने आज तक कोई जवाब नहीं दिया है। आशुतोष सामाजिक, मानसिक, आर्थिक रूप से परेशान है। विद्यालय स्वयं को कानून से ऊपर मान रहा है। इसलिए विश्वनाथ बाजपेई जिनकी उम्र 87 वर्ष है इन्होंने अपने पुत्र के परिवार के साथ क्रमिक धरना शुरू कर दिया है। जिसकी सूचना जिला प्रशासन को दिनांक 24/03/ 2022 को दे दी गई है। जिनकी मांग है कि उक्त विषय पर जांच कर जल्द से जल्द कार्यवाही की जाए जिससे आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार को मदद मिल सके।