नया सत्र शुरू अब शिक्षक डायरी के जरिए शासन से होगी निगरानी, शिक्षक डायरी में होगा ये सब

 नया सत्र शुरू अब शिक्षक डायरी के जरिए शासन से होगी निगरानी, शिक्षक डायरी में होगा ये सब



न्यूज़।बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में वार्षिक परीक्षाएं कराकर परिणाम जारी कर दिया गया। साथ ही एक अप्रैल से स्कूलों को भी खोल दिया गया। अब पूरे अप्रैल भर स्कूल चलो अभियान चलाया जाएगा। फिलहाल शिक्षक बोर्ड परीक्षाओं में ड्यूटी दे रहे हैं। मगर परीक्षाओं के बाद जब ग्रीष्मावकाश के बाद जुलाई से शिक्षण कार्य विधिवत शुरू होगा। तब शिक्षकों पर शासनस्तर से नजर रखने की तैयारी भी की जा रही है। यह काम शिक्षक डायरी के जरिए किया जाएगा। इसको लर्निंग पासबुक नाम दिया गया है। यह लर्निंग पासबुक गुरुजनों के शिक्षण कार्य का पूरा ब्योरा शासन के सामने रखेगी।कक्षा छह से आठवीं तक के स्कूलों को खोलकर विद्यार्थियों की आफलाइन माध्यम से पढ़ाई शुरू हो चुकी है। मगर अब स्कूलों के खुलने के साथ ही शिक्षकों की पासबुक भी खुलेगी। ये पासबुक बैंक खाते वाली नहीं होगी बल्कि विद्यार्थियों को पढ़ाई कराने वाली होगी। इसके जरिए शिक्षकों के शिक्षण कार्य पर शासनस्तर से नजर रखी जा सकती है। हर शिक्षक की लर्निंग पासबुक रोजाना मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। काेरोना काल का आनलाइन शिक्षा का वक्त हो या उसके बाद आफलाइन शिक्षा का समय हो, गुरुजी के शिक्षण का ब्योरा लर्निंग पासबुक में सुरक्षित रहेगा। हर शिक्षक की लर्निंग पासबुक बनाने का काम शुरू किया जा चुका है।शासनस्तर से निर्णय किया गया है कि शिक्षक को अपनी आनलाइन शिक्षण सामग्री का डेबिट-क्रेडिट एक क्लिक पर पता चल सके। दीक्षा एप के जरिए इस व्यवस्था को शुरू किया जा रहा है। इस एप की हर गतिविधि को मानव संपदा पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा। इस पर शासनस्तर से निगरानी भी होगी। इस एप पर शिक्षकों के लिए हर हफ्ते का कोर्स तैयार किया गया है। साथ ही विद्यार्थियों के लिए भी कोर्स तैयार किए गए हैं।