मुख्यमंत्री के बड़े बयान की धज्जियां उड़ा रहा है एक अदना सा पुलिसकर्मी

 मुख्यमंत्री के बड़े बयान की धज्जियां उड़ा रहा है एक अदना सा पुलिसकर्मी



ज्वाला गंज रोडवेज पुलिस चौकी में तैनात एक पुलिसकर्मी गैर कानूनी तरीके से करता है अवैध वसूली


कोतवाली पुलिस से लेकर जिला अधिकारी की चौखट तक पीड़ित ने लगाई न्याय की गुहार



फतेहपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने बड़े बयान में कहा है कि यदि प्रदेश के किसी भी जनपद में पीड़ित का उत्पीड़न किया गया तो उस जनपद के पुलिस प्रमुख पर निलंबन की कार्यवाही की जाएगी और मुख्यमंत्री के इस बड़े बयान को गंभीरता से लेते हुए जनपद के ईमानदार पुलिस अधीक्षक सभी थाना अध्यक्ष व चौकी इंचार्जों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि किसी भी थाना क्षेत्र में पीड़ित का उत्पीड़न हुआ तो संबंधित थाना अध्यक्ष पर कार्यवाही नहीं बल्कि उसको सीधा निलंबित कर दिया जाएगा। पुलिस अधीक्षक की कड़ी चेतावनी का असर भले ही जनपद के 19 थानों में नजर आता दिख रहा हो किंतु थाना कोतवाली सदर के अंतर्गत आने वाली रोडवेज पुलिस चौकी ज्वाला गंज में विकास नाम का एक अदना सा पुलिसकर्मी पुलिस अधीक्षक की कड़ी चेतावनी की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहा है। मालूम रहे कि थाना कोतवाली के अंतर्गत आने वाली ज्वाला गंज रोडवेज पुलिस चौकी में तैनात उपरोक्त अदने से भ्रष्ट  पुलिसकर्मी ने ज्वाला गंज घोसियाना मोहल्ले में स्थित एक मकान में अपनी भ्रष्ट कार्यशैली के चलते प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ जाकर एक बेवा महिला को खाकी का खौफ दिखाते हुए घर से बाहर निकाल कर मकान में ताला लगवा दिया था। बेवा महिला ने बताया कि पड़ोस के एक व्यक्ति से उसका विवाद हुआ था और पुलिस ने दोनों पक्षों पर शांति भंग की कार्यवाही किया था तथा उसके बाद पुलिसकर्मी विकाश ने खाकी का खौफ दिखाते हुए उनके घर से सभी को बाहर निकाल कर एक पड़ोसी के माध्यम से उनके मकान पर बिना किसी प्रशासनिक आदेश के प्रशासनिक अधिकारियों की धज्जियां उड़ाते हुए मकान पर ताला लगवा दिया। हैरत की बात तो यह है कि विगत 4 माह पूर्व उपरोक्त पुलिसकर्मी ने जब बेवा महिला के मकान पर ताला लगवाया था तब उसने आश्वासन देते हुए कहा था कि 2 दिनों बाद मकान का ताला खुलवा देंगे किंतु महिला ने आरोप लगाते हुए बताया कि जब उपरोक्त महिला ने मकान का ताला खुलवाने की बात कही तो उपरोक्त पुलिसकर्मी ने रिश्वत के नाम पर मोटी रकम मांगी जो महिला ने देने से इनकार कर दिया और उपरोक्त पुलिसकर्मी ने 4 माह बीत जाने के बाद भी बेवा महिला के मकान का ताला नहीं खुलवाया है। वहीं इस संबंध में बेवा महिला ने शिकायती पत्र देकर रोडवेज चौकी इंचार्ज शशीकांत सरोज से लेकर जिला अधिकारी तक को अवगत कराते हुए न्याय की फरियाद लगाई थी किंतु हैरत की बात तो यह है कि एक अदने से पुलिसकर्मी को आखिरकार प्रशासनिक अधिकारीयों का कोई भी डर नहीं है। गौरतलब बात तो यह है कि उपरोक्त पुलिसकर्मी की भ्रष्ट कार्यशैली की जानकारी उपरोक्त चौकी इंचार्ज को नहीं है। छेत्र में चर्चा इस बात की है कि उपरोक्त भ्रष्ट पुलिस कर्मी क्षेत्र में बिना खाकी के सिविल ड्रेस में घूम घूम कर संचालित होने वाले जुवाड़खानों समेत सभी प्रकार के अवैध काम करने वाले लोगों से खुलेआम अवैध वसूली करता है और चौकी इंचार्ज ज्वाला गंज की बेहतर कार्यशैली पर बदनुमा दाग लगाने से उपरोक्त पुलिसकर्मी पीछे नहीं हट रहा है। बेवा महिला के पुत्र रितिक ने बताया कि हमने विवाद को खत्म करने के लिए तत्कालीन कोतवाल के आदेश पर पुलिसकर्मी द्वारा दो दिन में ताला खोलने का आश्वासन देने की बात को मान लिया था किंतु अब भ्रष्ट पुलिसकर्मी ताला खुलवाने के लिए रिश्वत के नाम पर मोटी रकम मांग रहा है मकान के ताले की चाबी हमारे पास होने के बावजूद खाकी का खौफ दिखाकर ताला खोलने नहीं दे रहा है और कहा की ऐसे भ्रष्ट पुलिसकर्मीयों पर निलंबन की कार्यवाही की जानी चाहिए क्योंकि कि उपरोक्त पुलिसकर्मी के सामने पुलिस अधिक्षक बौने साबित होते नजर आ रहे है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
श्रद्धालुओं ने केन नदी की उतारी मंगल आरती
चित्र
जिलाधिकारी दीपा रंजन ने विकास खण्ड बिसण्डा के सभागार में ग्राम प्रधानों के साथ की समीक्षा बैठक
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र