जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला क्लस्टर सुविधा इकाई की द्वितीय समीक्षा बैठक सम्पन्न

 जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला क्लस्टर सुविधा इकाई की द्वितीय समीक्षा बैठक सम्पन्न



फतेहपुर।जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में गठित जिला क्लस्टर सुविधा इकाई की द्वितीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई । उन्होंने एफ०पी०ओ० के गठन हेतु दिये गयें लक्ष्य के सापेक्ष कृषि जीन्स को चुनते हुए दोआबा क्षेत्र के अनुकूल गुणवत्तायुक्त कृषि उत्पाद के उत्पादन हेतु एफ०पी०ओ का गठन तत्काल कराये जाने के निर्देश दिए एवं 10 एफ ० पी ० ओ ० को चयन करते हुए निर्यात हेतु बायर सेलर मीट का आयोजन कराने हेतु निर्देशित किया गया है ।

विनोद कुमार , सदस्य सचिव/जिला क्लस्टर सुविधा इकाई फतेहपुर द्वारा बताया गया कि कृषि निर्यात नीति 2019 के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश शासन द्वारा किये गयें संशोधनों यथा क्लस्टर का क्षेत्रफल एक विकास खण्ड में हो गया है , जो पहले 20-20 हेक्टेयर के निरन्तरता में होना चाहियें था , परिवहन अनुदान हेतु जल मार्ग एवं वायु मार्ग से करने पर रूपया 10 प्रति किलो ग्राम हो गया है जो पहले मात्र वायु मार्ग में था आदि संशोधनों की जानकारी प्रदान करते हुए एफ ० पी ० ओ ० को और कैसे लभान्वित किया जा सकता है ।विनोद कुमार ज्येष्ठ कृषि विपणन निरीक्षक फतेहपुर द्वारा अवगत कराया गया की कृषि उत्पादन मण्डी अधिनियम ( संशोधन ) 2018 एवं नियमावली 2019 के प्रविधानानुसार मण्डी उपस्थल , सीधी खरीद एवं निजी मण्डी स्थापना निदेशक कृषि विपणन एवं कृषि विदेश व्यापार विभाग , लखनऊ , उत्तर प्रदेश से लाइसेंस प्राप्त कर सकते है आदि की जानकारी विस्तृत रूप से प्रदान की गयी और उत्तर प्रदेश कृषि निर्यात नीति के तहत जिला फतेहपुर में क्लस्टर गठन हेतु मेसर्स निम्बस आर्गेनिक प्रोड्यूसर लिमिटेड द्वारा ब्लाक देवमई में 63.2 हेक्टेयर जैविक खेती से संबन्धित क्लस्टर के भूमि एवं किसानों के सत्यापन का कार्य प्रगति पर चल रहा है  एवं मे० खेत किसान प्रोड्युसर कम्पनी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भुवन द्विवेदी द्वारा शीघ्र ही हरी मिर्च से सम्बन्धित क्लस्टर गठित कराने का अश्वासन दिया गया है ।    

बैठक में राम मिलन परिहार उपनिदेशक कृषि, बृजेश सिंह जिला कृषि अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी , मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 राजेन्द्र सिंह , सहायक निदेशक मत्स्य सहित क्लस्टर सुविधा इकाई में नामित विभागों के प्रतिनिधि एवं एफ ० पी ० ओ ० के सदस्य उपस्थिति हुए ।